#politics

1700 quotes

Nowadays what's human behaviour in earth that's same animals behaviour in jungle.


"Strange"


The only difference in human jungle, human have politics and casteism.

#jungle#casteism#politics#human

5 HOURS AGO

1947

(Caption)

1947- क़हर वाला था वो साल, सियासत ने मचाया था हाहाकार, नफ़रतों का फैला दिया था जाल, बिछड़ गए थे बहुत से परिवार, देश का हुआ था बुरा हाल, दो हिस्सों में बंट गया था यार, हिंदुस्तान और पाकिस्तान, नजाने इस चक्कर में, कितनों ने गँवायीं थी अपनी जान, कितनों ने खोए थे अपने मकान, कितनों के बिखरे थे सब अरमान, क्यूँ हुआ था जारी ये फ़रमान, धर्म नफ़रत नहीं सिखाता, मोहब्बत सिखाता है, किसी की जान नहीं लेता, ज़िंदगी दिलाता है, क्यूँ भूल गए थे सब ये बात, दोस्त, दोस्त से बिछड़ा था, बेटा माँ से बिछड़ा था, पर प्यार कहाँ कम हुआ उनका, आज भी मिलने की है उन्हें दिलों में आस, पाकिस्तान से जो यहाँ आए, यहाँ से जो वहाँ गए, वो कहाँ अपनी मिट्टी को भूल पाए, सपनों में भी बस मिट्टी को देखते है, हाथों में अपने वतन की मिट्टी लेने को तड़पते है, नजाने क्यूँ हुआ था ये बँटवारा, क्यूँ अपनों को ही था मारा, क्यूँ मोहब्बत की हुई थी हार, किसने बिछाया था नफ़रतों का जाल, यहाँ भी वही इंसान, वहाँ भी वही इंसान, ख़ून का रंग दोनों जहाँ एक समान, फिर क्या फ़र्क़ है दोनों में, कोई तो मुझे बताओ यार, अंधेरों से अब तो बाहर आओ यार, मोहब्बतों के फूल फिरसे खिलाओ यार, अमन और शांति का पैग़ाम फैलाओ यार, किसी में कोई फ़र्क़ नहीं, सब भगवान के बनाए है इंसान, इस बात को ख़ुद भी समझो, और दूसरों को भी समझाओ यार। ©️रमनदीप सिंह सहगल #yqbaba #yqdidi #YoPoWriMo #partition #India #Pakistan #politics

YESTERDAY AT 18:44