Ashish Awasthi   (ख़ाक)
6.2k Followers · 90 Following

read more
Joined 14 May 2017


read more
Joined 14 May 2017
Ashish Awasthi 20 HOURS AGO

हाल ये है मुझे कुछ पता भी नहीं
है ख़ता भी तिरी, है ख़ता भी नहीं।।

-


Show more
124 likes · 10 comments · 2 shares
Ashish Awasthi YESTERDAY AT 11:41

ना जाने किस तरह तुमने मेरे सब राज़ कह डाले
मेरे लब से तो तेरा नाम तक बाहर नहीं होता।।

-


Show more
128 likes · 9 comments
Ashish Awasthi 3 APR AT 23:32

नाज़, नख़रे, सुर्ख़ आरिज़, बेल सी नाज़ुक कमर
ऐ ख़ुदा इक शख़्स को सब कुछ न देना चाहिए।।

-


Show more
153 likes · 16 comments · 2 shares
Ashish Awasthi 31 MAR AT 19:43

मेरे अंदर है बदचलनी तेरे में बेवफ़ाई है
ख़ुदा क्या अब किसी भी शख़्स के अंदर नहीं होता।।

-


Show more
142 likes · 16 comments · 2 shares
Ashish Awasthi 30 MAR AT 23:09

देख करके ग़ैर की बाँहों में अपने प्यार को
ज़ख़्म मेरे दिल का थोड़ा और गहरा हो गया।।

-


Show more
141 likes · 9 comments · 2 shares
Ashish Awasthi 27 MAR AT 11:36

मसअला ऐसा हो जिसपे बात कुछ बढ़ने लगे
इस तरह के वाक़यों से दूर रहना चाहिए।।

-


Show more
132 likes · 7 comments · 1 share
Ashish Awasthi 25 MAR AT 20:36

ग़ज़ल
(अनुशीर्षक में पढ़िए)

-


Show more
129 likes · 37 comments · 6 shares
Ashish Awasthi 24 MAR AT 0:07

ये तो मजबूरियाँ हैं जिस वजह से दूर हैं घर से
कोई अपनी ख़ुशी से तो कभी बेघर नहीं होता।।

-


Show more
153 likes · 18 comments · 3 shares
Ashish Awasthi 22 MAR AT 21:13

शख़्स कोई भी रहे बिकने को राज़ी है यहाँ
बस सही क़ीमत लगाने वाला कोई चाहिए।।

-


154 likes · 14 comments
Ashish Awasthi 21 MAR AT 14:30

ग़ज़ल
(अनुशीर्षक में पढ़िए)

-


Show more
101 likes · 20 comments · 7 shares

Fetching Ashish Awasthi Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App