Upload Video

#past

8393 quotes

YourQuote
YourQuote
फ़सलों की फ़सील से उभरता इक साया
वक़्त की सरहदों से बईद
हकीक़त सा ज़िन्दगी-फ़रेब
ख़यालों में सिमटता 
इक अजीब ज़ाविये में मुहीत
मेरे मंनिन्द
तन्हा
ख़ुद-निगर
मुंजमिद अँधेरों का इक दरिया...

क्या वो मेरा कोई अपना सा है?
या फ़िर
सिर्फ मेरा ही अक्स?

फ़सील - wall बईद - beyond ज़ाविये -secluded corner मुहीत - encircled मंनिन्द - resemblance ख़ुद-निगर - self centred मुंजमिद - congealed, solidified #yqdidi #yqbhaijan #past #memories