Amit Mishra   (✍️Amit ('मौन'))
5.4k Followers · 163 Following

read more
Joined 5 November 2017


read more
Joined 5 November 2017
Amit Mishra YESTERDAY AT 18:59

विश्वास :

गुम है कहीं मतलब की अलमारी में
धोखे की दीवारों के बीच
पैसों की आड़ में छुपा हुआ....

आख़िरी बार देखा गया था उसे
लंगड़ा कर एक पैर पर चलते हुए

अब शायद गिर गया होगा कहीं
कभी ना खड़ा होने के लिए......

आने वाले समय में विश्वास को अतीत की
किसी किवदंती के रूप में याद किया जाएगा...

-


Show more
147 likes · 17 comments · 2 shares
Amit Mishra 22 MAY AT 19:26

बाद तेरे हर ख़याल में बस यही ख़याल आता है
काश मोहब्बत का अपनी हमने ख़्याल रखा होता

-


162 likes · 16 comments · 3 shares
Amit Mishra 20 MAY AT 22:01

विरह की वेदना सह चुकी स्त्रियाँ अपनी अपने टूटे दिल को बंद कर के रख देती हैं
मस्तिष्क की अलमारी के सबसे अंदर वाले कपाट में....

जहाँ से उस दिल को निकालना उतना ही मुश्किल है जितना मुश्किल है उस दिल को जोड़ना बिना किसी जोड़ के निशान दिखाई दिए बिना....

विरह की वियोग से गुज़र चुके पुरुष अपने दिल पर पुरुषत्व के एहसास की एक कठोर परत चढ़ा लेते हैं..

वो अपने हृदय को इतना कठोर कर लेते हैं
कि कोई लाख प्रयत्न के बाद भी उस दिल के भीतरी कमरे तक नही पहुँच पाता....

और इस तरह वो दोनों अपने जीवन में आने वाले नए साथी को वंचित रखते हैं...

प्रेम के सुखद अनुभव से.....

-


Show more
120 likes · 24 comments · 4 shares
Amit Mishra 18 MAY AT 16:19

विडंबना:

एक इंसान के लिए सबसे ज़्यादा मुश्किल काम है उदासी में किसी अपने के ''क्या हुआ ??'' पूछने पर ''कुछ नही'' वाला जवाब देना...

वो भी उस पल में जब आपका दिल सीने से निकल कर आपकी सांसों को आज़ाद कर देना चाहता हो..
आँखें हर बाँध तोड़कर बह जाना चाहती हों..
पैरों में खड़े होने भर की ताकत भी ना बची हो..
और बाजुएं किसी के कंधे से लिपट कर आपके होंठों से ये कहलवाना चाहती हों कि..

सुनो...मैं ठीक नही हूँ....

और इस दुनिया की सबसे बड़ी विडंबना है कि आपका वो अपना जो आपके इस हाल को जानने के बाद भी आपके ''मैं ठीक हूँ'' वाली बात पर आपको ये एहसास दिलाए की उसने मान लिया है कि 'आप ठीक हैं''.......

-


मैं ठीक हूँ....

#amit #yqbaba #yqdidi #amitmaun

138 likes · 19 comments · 5 shares
Amit Mishra 18 MAY AT 9:05

अस्थायी रिश्ते:

कुछ रिश्ते गमले में उगी घास की तरह होते हैं...
घास जो अचानक ही पेड़ के आस पास उग आती है उसके चारों ओर एक सुंदर हरियाली छटा बनकर उसकी शोभा बढ़ाती है...
फिर या तो वो ख़ुद ही सूख जाती है या काट दी जाती है....
क्योंकि पौधे को विकास के लिए उस घास को छोड़ना पड़ता है...

इसी तरह आगे बढ़ने के क्रम में हमें कुछ रिश्तों से विदा लेनी पड़ती है...

जिस तरह बार बार घास उस पौधे के आस पास फिर से उगती और सूखती रहती है..ठीक उसी तरह हमारे जीवन में भी लोग आते और जाते रहते हैं...

-


Show more
146 likes · 19 comments · 10 shares
Amit Mishra 16 MAY AT 11:11

पैशन और पढ़ाई

-


Show more
132 likes · 31 comments · 5 shares
Amit Mishra 14 MAY AT 9:25

【एक लड़की】

-


Show more
167 likes · 27 comments · 5 shares
Amit Mishra 30 APR AT 19:34

अब फ़र्क पड़ता नही उसको जो यार उसका ख़फ़ा है
अफ़्सोस मुझे भी नही ख़ैर ये कौन सा पहली दफ़ा है

-


उम्मीद टूटती है पर आस नही छूटती...

#amit #yqbaba #yqdidi #amitmaun

224 likes · 23 comments · 8 shares
Amit Mishra 26 APR AT 9:18

प्रेम पथिक बनने की मैंने,
वजह को ऐसे ढूंढ़ लिया
पाकर तुमको ये जाना है,
मैंने ख़ुद को ढूंढ़ लिया
(गीत)

-


Show more
703 likes · 38 comments · 8 shares
Amit Mishra 22 APR AT 20:58

मैं अक़्सर उसकी यादों से कुछ ऐसे भागा करता हूँ
कर क़ैद चाँद को दरिया में फ़िर शब भर जागा करता हूँ

-


Attention divert हो जाता है..😊😊

#amitmaun #yqbaba #yqdidi #amit

259 likes · 36 comments · 2 shares

Fetching Amit Mishra Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App