#4

356 quotes

नफ़रत करूं या करूं मोहब्ब्त मैं,
ये यार तू ही बता क्या करूं मैं ?

लगती हैं तू मेरे जिंदा रहने की जरूरत,
तो करता हूं मैं तुझे पाने की मशक्कत।

लगती हैं तू मेरे जिंदा रहने को मुसीबत,
तो करता हूं मैं तुझसे मुख़्तसर मुलाकत।

कभी तलाशता हूं मैं तूझकोे मिलने को फुर्सत,
कि दीदार को मज़बूर करती हैं तेरी नफ़ासत।

गुलज़ार हैं जिंदगी जब होती हैं तेरी कुर्बत,
तेरी बेरूख़ी में तो जिंदगी लगती हैं गु़रबत।

जानता हूं मैं महरूम होगा,हैं इश्क़ जिसका मुद्दत,
कि तू बिन इत्तला के ही होगा एक दिन रूख़सत।

लिखते लिखते बन न जाए,ये कविता मेरी शिनाख़्त,
कि बगैर तेरे ये जिंदगी लगती हैं मेरी कमबख़्त।।

करूं बेहिसाब मोहब्बत, तो कभी थोड़ी थोड़ी नफ़रत मैं।।

#नफरत करूं या करू मोहब्बत #yqbaba#yqhindi#yqdidi#yqtales#yourtales #1. मुख़्तसर- थोड़ा, घटाया #2. नफ़ासत- सुंदरता, अच्छाई #3. गुलज़ार- आबाद, आनन्द से भर पूर #4. कुर्बत- नजदीकी #5. बेरूखी- नाराजी #६. गुरबत- गरीब होने की अवस्था, कष्टदायक जीवन #७. महरूम-बदनसीब #८. मुद्दत- बरसों से #९. शिनाख़्त- पहचान #१०.कमब़ख्त- बदकिस्मत

YESTERDAY AT 2:33

Living restrictions: Imagination flies...

#4#words#story #yqbaba #yqdidi And here it is... Swati Agrawal Arifur Rahman

20 JUL AT 23:10

Sometimes I too dance in the mist of rainy days.. 
For the joy and relaxation which they tend to give you... 
Without asking anything in return.. 
Is rare to be found in humans..

#4

19 JUL AT 19:17

Feeling winter in summer
She sitting beside me

#yqbaba#yqdidi# challenge#8 words#4 season # special thanks Pragnya Sharon

19 JUL AT 17:37

Don't trust too much 
Don't love too much 
Don't hope too much
Because that "too much"
Can hurt you so much. 💛

#4

18 JUL AT 17:03

When everything seems to be going against you, remember that airplane takes off against the wind, not with it.

#justathought

#4

16 JUL AT 22:57