#writersofig

5689 quotes

सपनों के कफ़न में ये ज़िन्दगी दफ़न है,
जल रहे हैं बल्ब फिर भी अंधेरा देखो गहन है. 
Read in caption..

सपनों के कफ़न में ये ज़िन्दगी दफ़न है, जल रहे हैं बल्ब फिर भी अंधेरा देखो गहन है, अफ़सोस सी मज़बूरी है न जाने कैसी खुद से दूरी है। कुछ व्यर्थ है जो हो रहा है ये जुनून अब जो सो रहा है। उलझा रहे ये सवाल हैं जिनका मुझ पर भी न जवाब है, जैसे वृक्ष से एक टहनी सा मैं टूटा कह रही एक आवाज है। इन व्यथाओं का काफिला ना समझ मुझे आ रहा है ना कोई समझाने को है, ये जो अचैतन्य पंछी तुम्हें मिल रहा,ये मैं नहीं शायद ये कोई और है,, जैसे आकाश से बूँदो के समांतर गिरा बस कुछ न कहे न किसी से मिले ही मैं खो गया, मिट्टी में फिर जैसे छाप उनकी, वैसी सी हैं ये मेरी पंक्तियां।। #omyypoetry #poetry #instawriters #writersofinstagram#writersofig

17 NOV AT 20:00