yqtv

QUOTES ON #UQ

#uq quotes

Trending | Latest
mridula maurya 3 DEC AT 14:49

आज फिर से सर्दी ने वो कुल्हड़ की चाय याद दिलाई है,
जो पीता था नुक्कड़ पर यारो के साथ ।।

-


# dosti
#yaadee
#uq

4 likes
Akanksha Maurya 29 NOV AT 12:55

कहने को ही मैं अकेली हूं
पर हम दो हैं
एक मैं.. मेरी परछाई..
🍃🍃🙍🍃🍃

-


17 likes · 4 comments
Z.M. khanam 30 OCT AT 14:38

we travel a lot, n still we do,
miles n miles, what it will give.

-


5 likes · 1 comments · 1 share
Ritu Shukla 22 OCT AT 19:20

अमा अँधेरी कहलाती पर होते तारे उसमे भी
शबनम नम होती है पर छिपे अंगारे उसमे भी

-


Pc- मणिकर्णिका
#uqbaba #uqdidi #uqlove
#uquote #uq

24 likes · 14 comments
Archana Singh 2 OCT AT 19:57

Kabhi दुआओं Mein Hame bhee Shamil Karke Dekho yarro..
हम इतने भी बुरे नहीं.. ki Badal Bhi Na Sake..
Ye तो वक्त का तकाजा है दोस्तों.. कि मुझे नारियल की तरह बनना पड़ा.. Upar Se majboot aur Andar Se Masoom....
आखिर हम भी तो एक इंसान हैं.. हमें भी तो मोहब्बत की जरूरत है..

-


yq #yqbaba #uq Didi..

6 likes · 2 shares
Riya Dhar 15 AUG AT 14:28

Jindegi toh akele hi bitana hain
Dusre k liye maat socho khud k liye socho.
Kisike k sath kisi v relation main rho toh sarif bnke rehna usko ignore mat krna thoda care krna kyu ki wo tumse isske alwa kuch nhi chahte. Or kisi v karn se Ruth jaye toh manane ki kuoshish krna chorke maat jna

-


4 likes · 1 comments
Radhey Shyam Sharma 14 AUG AT 22:50

आज ट्रेन की खिड़की से 15 अगस्त देखता हूँ
खेतों को हरा भरा देख अन्नदाता को खुश देखता हूँ

यादों में अपनी मैं स्वतंत्र एक परी देखता हूँ
कभी थी जो चुपचाप सी आज उसकी हंसी देखता हूँ

कुछ नया तो नहीं आएगा तारीक वही होगी पर
रुके रास्ते थे जिनके उनको उम्मीदों मैं दौड़ते देखता हूँ

भारत माँ को देखा नहीं मैंने कभी पर
उसके हँसते हुए चेहरे में मैं भारत माँ की छवी देखता हूँ

इस बार ये जस्न बहुत ही बड़ा देखता हूँ
मैं आने वाली सुबह में उसे खुद के करीब देखता हूँ

मैं आज़ाद देश में नयी आज़ादी की लहर देखता हूँ
उसका हर एक सपना तिरंगे से नीचे सजा देखता हूँ

आज ट्रेन की खिड़की से 15 अगस्त देखता हूँ
मैं उसको खुद की नज़रो के सामने तिरंगे में सजा देखता हूँ



-


7 likes
Sudha Singh 10 AUG AT 15:02

गुलों को ख़ुशबुओं से ही जानते हैं,
कहां इनकी सीरत को हम पहचानते हैं,
फिज़ा भरते हैं जो अपनी महक से,
लुटा देते हैं ख़ुद को वो....
कहां हम मानते हैं,
सिखा जाते सबक़ हमको,
ख़ुश्बुएं बांट कर बिखर जाने के,
के कांटों में भी मुस्कुरा कर,
जीने के तरीके वो जानते हैं.....🌸🌸🌷🌷🌸🌸

-


#khushboo #Fanaa # Spirit # Gul #uq baba # u q didi #🌸🌸🌷🌸🌸🌷 #

Fetching #uq Quotes

Trending Videos
Fetching Feed..