adhure alfaaz   (Adhure.__.alfaaz)
8 Followers · 3 Following

read more
Joined 29 December 2018


read more
Joined 29 December 2018
19 AUG AT 7:14

भगवान ने आज के दिन इक अद्भुत कमाल दिखाया है।
दुनिया को अद्भुत-अतरंगी दो बहनों का दर्शन कराया है।
शक्ल से दोनों एक-दूसरे का प्रतिबिंब सा नजर आती हैैं।
अक्ल से दोनों एक-दूसरे का पूर्व-पश्चिम यूं बन जाती हैं।
फिर भी सुख-दुःख में एक-दूसरे का साथ ये निभाती हैं।
खुशकिस्मत है वो जिन्हें इन बंदरों का प्यार मिल जाता हैं।
फिर वही इनके साथ बैठकर कुछ थोड़ा बहुत खा पाता हैं।
माना कि दोनों जुड़वां बहनें थोड़ी हिली हुई हैं दिमाग से।
पर हर पल सुख की दुआएं वो हर दिल के लिए कर जाती हैं।

जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं।
आप दोनों बहनों को संसार की हर सुख-सुविधा मिले और आप दोनों एक-दूसरे का साथ ऐसे ही निभाते रहे।

-


4 AUG AT 21:53

होंठ जैसे की कोई मुलायम गुलाब की दो पंखुड़ियां हों।
और उन पंखुड़ियों पर शहद के जैसे मीठी-मीठी सी इक लाली हों।
आंखें जैसे की कोई समुद्र से निकला हुआ अनमोल सा इक मोती हो।
और उन आंखों की पलकों ने उस अनमोल मोतियों को संजो के रखा हों।
माना कि तुमको शब्दों में किसी तरह से यूं बयां करे ए मेरे हमदम।
पर तेरे तो हर इक हिस्से में हमको जैसे सन्तुष्टी का संसार मिला हो।

-


23 JUL AT 13:08

बोलते हैं लोग की परेशानी हो तो दोस्त समझ बता देना दिल खोलकर।
पर किसी ने इतना अपनेपन का अहसास ही नहीं दिखाया मुझको।
बोलते की तुम तो बहुत अच्छे हो बहुत अच्छा साथी मिलेगा इस संसार में।
अगर हूं इतना ही अच्छा तेरी नज़रों में पर क्यों साथी ना हूं मैं तेरा।

-


15 JUL AT 10:18

हम तो निकले थे दोस्ती का रिश्ता निभाने को इस जहां में।
पर कमबख्त दोस्त ही किसी और की तलाश में व्यस्त मिला।

-


1 JUL AT 8:07

एक लड़की जिसकी मुस्कान में पूरी दुनिया समा गई।
आज वो मुस्कान ना मिली तो सब बेस्वाद सा लगा मुझे।

-


24 JUN AT 15:07

मोती सी आंखों में तुम्हारी खो दूं इस कदर आज मैं खुद को।
तुम्हारी प्यारी आंखों में मुझे अपना चेहरा यूं नजर आ जाए।
मद्धम सी मुस्कान में तुम्हारी खो दूं इस कदर आज मैं खुद को।
तुम्हारी मदहोश मुस्कान में मुझे खुशहाल जहां यूं मिल जाए।
कानों की बालियों में तुम्हारी खो दूं इस कदर आज मैं खुद को।
तुम्हारी सुन्दर बालियों में मुझे मधुर गीत सुनने को मिल जाए।
होठों की लालीमा में तुम्हारी खो दूं इस कदर आज मैं खुद को।
तुम्हारी होठों की लाली में मुझे अमृत का ज़र्रा सा मिल जाए।

-


6 MAY AT 13:56

तुम्हारे होंठो की कोमलता इक फूल के जैसे।
होठों के पास वो तिल फूल पर भंवरे के जैसे।
होठों पर लिपस्टिक की लाली शहद के जैसे।
अब बताओ तेरे होंठों को चूमने से रोकूं कैसे।

-


4 APR AT 7:24

अपने होंठों को यूं अपने दांतों से मत काटा करो।
इन होठों को काटने का हक सिर्फ मेरा है।
अपने स्तनों को यूं अपने हाथों से मत दबाया करो।
इन स्तनों को दबाने का हक सिर्फ मेरा है।
अपनी योनि को यूं अपनी उंगलियों से मत सहलाओ।
इस योनि को सहलाने का हक सिर्फ मेरा है।

-


25 MAR AT 23:08

सीधे रास्ते पर चलने के लिए पूरी दुनिया बोलती रहती है।
पर मुझे तेरे शरीर के टेढ़े रास्तों से गुजरना सबसे अच्छा लगता है।

-


22 MAR AT 9:27

देशवासियों को देश के लिए आज सिर्फ एक काम करना है।
ख़ुद को सुरक्षित रखने के लिए बस घर में ख़ुद को रखना है।
रोज अच्छे से हाथ धोना और खुद को दूसरों से दूर रखना है।
सबको मिलकर आज कोरोनावायरस की बीमारी से लड़ना है।

-


Fetching adhure alfaaz Quotes