Vivek Dhawan   (Adhure.__.alfaaz)
6 Followers · 3 Following

read more
Joined 29 December 2018


read more
Joined 29 December 2018
Vivek Dhawan 22 HOURS AGO

रात भर तुम्हारी तस्वीर को देखता रहा निहारता रहा।
तुम चांद हो कि सूरज बस यही एक बात सोचता रहा
जब चांद तुम्हें है सोचा दिल में एक मीठा एहसास रहा।
जब सूरज तुम्हें है सोचा दिल मेरा दिन खुशनुमा रहा।
रात भर तुम्हारी तस्वीर को देखता रहा निहारता रहा।
तुम पानी हो कि हवा बस यही एक बात सोचता रहा।
जब पानी तुम्हें है सोचा खुद को खुद में ही देखता रहा।
जब हवा तुम्हें है सोचा जीवन का तुझमें एहसास रहा।
रात भर तुम्हारी तस्वीर को देखता रहा निहारता रहा।

-


9 likes · 1 share
Vivek Dhawan 8 FEB AT 7:49

किस तरह से तुझसे यूं अपनी मोहब्बत का इज़हार करूं।
तेरा तो हर एक अंदाज ए हुस्न कमाल का होता है।
पाना तो चाहता हूं मेरी जिंदगी में तुम्हें मैं सुबह और शाम।
पर तुम ही बताओ कि इज़हार ए मोहब्बत कैसे बयां करूं।

-


11 likes
Vivek Dhawan 7 FEB AT 8:17

गुलाब तो बहुत तरह के हैं इस खूबसूरत सी दुनिया में।
पर तेरे जैसे खिला हुआ गुलाब मुझे कहीं भी ना मिला।
लाल गुलाब के जैसे तेरे होठों में एक मदमस्त सी खूशबू हैं।
सफेद गुलाब के जैसे तेरा सुन्दर कोमल सा ये जो बदन है।
नीले गुलाब के जैसे तेरी मदमस्त नशीली सी दो आंखें हैं।
गुलाब तो बहुत तरह के हैं इस खूबसूरत सी दुनिया में।
पर तेरे बदन की खुशबू से अच्छी खुशबू मुझे कहीं भी ना मिली।

-


10 likes · 1 share
Vivek Dhawan 4 FEB AT 20:45

ना कर जलील उस बाप की बेटी को ए दरिंदों।
उसके बाप ने इज्जत बड़ी मेहनत से कमाई है।
पाना है तो उसको दिल की गहराइयों से पाओ।
जिस्म तो तुम वैशयालय में भी बहुत पा लोगे।

-


6 likes · 1 share
Vivek Dhawan 25 JAN AT 15:22

तेरा नूरानी चेहरा देखकर मेरी सुबह यूं अच्छी हो जाती है।
तेरी हसीन जुल्फों को देखकर मेरी शाम यूं खिल जाती है।
तेरी होठों की लाली देखकर मेरी धड़कन यूं बढ़ जाती है।
भगवान ने भी कितनी फुर्सत से बनाया है तुझको मेरी जान।
तेरे आने से खुशियां और जाने से बाहार सी चली जाती है।

-


4 likes · 1 share
Vivek Dhawan 24 JAN AT 20:03

चेहरा नूरानी मदमस्त जवानी कुछ तो अलग बात है तुझमें।
घुंघराले बाल हिरनी सी चाल कुछ तो अलग बात है तुझमें।
घूमने की शोकीन लड़की तू हसीन कुछ तो अलग बात है तुझमें।
पापा की परी तो मां की परछाई कुछ तो अलग बात है तुझमें।

-


9 likes
Vivek Dhawan 22 JAN AT 11:25

चांद पर हल्के हल्के दाग।
और तेरे जिस्म पर वो तिल।
मुझे दोनों अच्छे लगते है।
गिली मिट्टी की मदमस्त महक।
और तेरे जिस्म की निकली खुशबू।
मुझे दोनों अच्छे लगते है।

-


6 likes · 1 share
Vivek Dhawan 21 JAN AT 22:15

आंखों को ना ढका करो अपनी इन हसीन पलकों से।
इन खूबसूरत आंखों के दीदार के लिए ही कतार में हूं।
सुना है अमृत का कलश भरा हुआ है आपके दिल में।
बस आपके होठों की लाली में वो देखना चाहता हूं।
खूबसूरती तो यूं जी भरकर दी हुई है भगवान ने तुम्हें।
बस औरों से पहले तुझे यूं जी भरकर देखना चाहता हूं।

-


5 likes
Vivek Dhawan 12 JAN AT 22:47

यूं ना दरिंदगी दिखाओ तुम ओ क़ातिलो और ज़ालिमो।
Acid नहीं ये लड़की के लिए दर्द का घनघोर संसार है।
झुलसती लड़की नहीं बस उसमें झुलसता पूरा परिवार है।
पाना चाहती हैं वो भी हर एक खुशियां इस छोटे संसार में।
ना छिनो उनको जिंदगी जीने का हिस्सा इस संसार में।

-


Show more
5 likes · 1 share
Vivek Dhawan 4 JAN AT 9:53

अल्फ़ाज़ ए हुस्न से कैसे बयां करूं मैं तुझको।
तुम्हारे तो हर एक अंदाज में एक अदा सी है।

-


13 likes · 1 share

Fetching Vivek Dhawan Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App