Supriya Mishra   (Whitebird)
13.8k Followers · 462 Following

read more
Joined 29 October 2016


read more
Joined 29 October 2016
4 HOURS AGO

कुछ शायरों का रोना
हम संगीत की तरह सुनते हैं।

- सुप्रिया मिश्रा

-


17 SEP AT 10:27

एक अरसे से खोए खुद को ढूंढ लाने को
हम भटक रहें है इस किताब उस किताब

- सुप्रिया मिश्रा

-


13 SEP AT 23:02

किताबों से प्रेम करने वाले लोग
कभी अपने प्रेमी से नहीं टकराते।
वो किनारा कर लेते है।
उनकी नजर
पहले एक दूसरे की किताबों पर पड़ती है
फिर एक दूसरे पर।
प्रेम भी उन्हें इसी क्रम में होता है।

- सुप्रिया मिश्रा

-


12 SEP AT 8:06

इल्म था हमने पार किए हिमालय कई कई
सो दीवारें छोटी रखीं गई आंगन बड़े किए ।

- सुप्रिया मिश्रा

-


12 SEP AT 7:13

हम हैं कैद मुल्क में आज़ाद खयालों वाली
सो हमारी ही आज़ादी धीरे धीरे लूटी गई।

- सुप्रिया मिश्रा

-


28 AUG AT 0:17

वो बार बार मेरे पास आया
मैंने बार बार उसे दूर किया।
एक बार जब वो नहीं आया
तो मुझे एहसास हुआ
कुछ दिल कांच के नहीं
रब्बर के होते हैं।
टूटने पर वो चुभते नहीं
वो बस खो जाते हैं,
फिर नहीं मिलते।

- सुप्रिया मिश्रा

-


20 AUG AT 8:19

फिल्मों में नौ तरह के कैरेक्टर आर्किटाइप होते हैं। मेरी एक कविता इसी श्रृंखला में रही है - एडवेंचर अर्कीटाइप। ये दूसरी कविता है - हेल्पर अर्कीटाइप। प्रतिक्रियाएं दीजियेगा।

(कविता अनुशीर्षक में)
- सुप्रिया मिश्रा

-


18 AUG AT 11:29

गुलाब के डाल से इन रस्तों पर, जाना
आगे कहीं कोई कली खिलती तो होगी।

- सुप्रिया मिश्रा

-


16 AUG AT 23:51

....

-


14 AUG AT 23:37

एक लम्हा बीता, फिर एक दिन गुजर गया।
मेरा ख़्वाब था यहां, कहां गया? गुज़र गया!

- सुप्रिया मिश्रा

-


Fetching Supriya Mishra Quotes