Sudhanshu Shekhar   (सुधांशुशेखर)
5.2k Followers · 1.2k Following

कुछ अनकही, कुछ अनसुनी कहानियाँ
Joined 28 August 2016


कुछ अनकही, कुछ अनसुनी कहानियाँ
Joined 28 August 2016
Sudhanshu Shekhar 5 HOURS AGO


यूँ न परेशान कर
माना संघर्ष ही जीवन है
कुछ तो इसे आसान कर

-


Show more
47 likes · 12 comments
Sudhanshu Shekhar 7 HOURS AGO

तज़ुर्बे की गठरी है पास
फिर भी ख़ला है जिंदगी

-


Show more
32 likes · 3 comments
Sudhanshu Shekhar 7 HOURS AGO


कमतर अपने को रखने में
अब जाकर मालूम हुआ है
कईयों से मैं बेहतर था

-


Show more
41 likes · 4 comments
Sudhanshu Shekhar 19 HOURS AGO

कल इक हादसा हुआ
अड़तालीस डिग्री पारा चढ़ने पर
तपता सूरज आया था
ताप बुझाने
झील किनारे
सूखा पानी देख
मार सका न डुबकी उसमें
ना ही ले सका पानी ही अंजुरी में
जला भुना वह ढल गया देर शाम
क्षितिज के दूसरे कोने में
जाते जाते तोड़ गया रिकॉर्ड
पचास साल पुराना
अड़तालीस डिग्री वाला

-


58 likes · 12 comments
Sudhanshu Shekhar 13 JUN AT 9:28

माँ जब समझाती है
शंकाएँ सुलझ जाती हैं
शांत हो जाता है
दग्ध हृदय
वही माँ नहीं कर पाती
शांत दूसरी सन्तान को
एक ही माँ
उसी की संतान
एक करता अमृतपान
दूसरा बेचैन प्राण

-


47 likes · 8 comments
Sudhanshu Shekhar 13 JUN AT 8:55

वे महान बने रहे
अन्याय के विरुद्ध उन्होंने कभी
आवाज़ नहीं उठाई
वे सहृदय कहलाए
उदार समझे गए
मरने के बाद भी
तारीफ़ करते हैं
पुराने लोग उनकी

-


37 likes · 2 comments
Sudhanshu Shekhar 12 JUN AT 22:37


इस ज़माने में
हमें इल्म भी नहीं
बुज़ुर्गों के चेहरे की हँसी
और आँखों की चमक

-


Show more
43 likes · 9 comments
Sudhanshu Shekhar 12 JUN AT 22:33

अपने प्रेम की दास्तां
केवल अपने ही बारे में
बयान से
होती नहीं मुकम्मल
कोई प्रेमकथा

-


Show more
45 likes · 2 comments
Sudhanshu Shekhar 12 JUN AT 22:29

अपने बचपन की कहानियाँ
लिख सका न कुछ भी
जवां हो गया था
छुटपन में ही
मज़दूरी करते

-


Show more
40 likes · 3 comments
Sudhanshu Shekhar 12 JUN AT 22:23

तेरे बग़ैर

-


Show more
35 likes · 1 comments

Fetching Sudhanshu Shekhar Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App