शुभी पाराशर   (शुभी पाराशर)
2.4k Followers · 5 Following

❤ पुराने ख़यालातों वाली एक नयी सी लड़की!!
Joined 4 January 2018


❤ पुराने ख़यालातों वाली एक नयी सी लड़की!!
Joined 4 January 2018

सैलाबों से आँख मिला, कर तैर ये दरिया पार,
नौकाओं के सहारे छोड़, रगड़ इन तूफ़ानों पर वार!
लकीरों के भरोसे ना बैठ ऐ बन्दे,
कि इरादे सैलाबों से नहीं मरा करते और मल्लाह गहराईयों से नहीं डरा करते!!!

-


28 likes · 15 comments

कोई भी सकारात्मक, परिवर्तनशील, संतोषप्रद कार्य करने के लिए हर समय उपयुक्त होता है।।।

-


32 likes · 5 comments

ये सतरंगी कंचे, रंग बिरंगी बरनियों से झाँकते हुए,
मुँह चिढा़ते हैं हमें कि कैद तो तुम भी हो,
जीवन के इस जाल में, हम तो भुगत रहे हैं अपनी सुंदरता की सजा,
पर तुम तो आडंबर ओढ़े चले जा रहे हो पता नहीं किन रास्तों पर...

-


33 likes · 4 comments · 1 share

लोक लाज का भार लिए बस जिये जा रहे हैं,
संभाली तो नहीं जा रही फिर भी जुटाए जा रहे हैं।
काटी तो नहीं जा रही पर ढोये जा रहे हैं ,
ज़माने के डर से ऐ ज़िंदगी, तेरी कमियाँ छुपाये जा रहे हैं ।
इंसान तो हम भी थे काम के पर, अब तेरे जख्मों पर नमक अति लगाए जा रहे हैं!!!

-


51 likes · 15 comments · 1 share

यूँ तो किस्से हज़ार हैं बाजार में,
ये तो ज़र्रे का हौसला है उसे उड़ना कहाँ तक है!!

-


107 likes · 25 comments · 1 share

चर्चे तो बहुत हुए,
फ़क़त हर बार बर्बादी के ही हुए !!

-


120 likes · 38 comments · 1 share

तोहीन ना कर फटे हुए लिबासों की
कि बेकपड़ा तो अक्सर अमीर ही मिलते हैं!!

-


143 likes · 47 comments · 2 shares
शुभी पाराशर 23 OCT 2018 AT 19:53

हँस जब-जब उड़ा, अकेला उड़ा,
देखो लाखों-करोड़ों का झमेला जुड़ा,
... हँस जब-जब उड़ा, अकेला उड़ा !!

-


Show more
263 likes · 65 comments
शुभी पाराशर 30 SEP 2018 AT 11:13



"जीवन भर तुम्हें ही चाहा"
पर अब सब छूट रहा है
हौले -हौले
उसमें तुम भी शामिल हो !
या कहूं की मैं ही सब कुछ छोड़ रहा हूँ
धीरे -धीरे
ये जानकर भी कि उसमें तुम भी छूट रही हो !
दर्द है कि तुम्हें छोड़ रहा हूँ
पर सब छूट जाएगा
खुशी भी है !

-


225 likes · 35 comments
शुभी पाराशर 16 SEP 2018 AT 18:16

अपनी नाकामियों से ज्यादा मशहूर हो गए हैं हम साहब
ज़रुरी तो नहीं चर्चे हर बार कामयाबी के ही हों !

-


376 likes · 96 comments · 5 shares

Fetching शुभी पाराशर Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App