Shanky Salty   (Shanky❤Salty)
2.0k Followers · 13 Following

Joined 24 March 2018


Joined 24 March 2018
5 MAY AT 20:13

एक वक्त था, जब दिन में दस-दस, बीस-बीस दफा मिलते थे
अब तो मिलने-जुलने, कहने-सुनने की इच्छा ही नहीं होती
रोज-रोज क्या मिलना, क्या कहना, क्या सुनना
सब ठीक ही होगा सोच कर
अब तो पंद्रह दिन में कभी मिल लिया, कह दिया, सुन लिया
क्या, कैसा सब ठीक है सोच कर
महीने में कुछ जरूरत पड़ी तो मिल लिया, कह दिया, सुन लिया
भला मेरी क्या जरूरत होगी, सब ठीक ही होगा सोच कर
भुले-बिसरे कुछ कभी पुछ लिया, सुन लिया, सुना भी दिया
पर सच कहते हैं, वो दिन दुर नहीँ
जब हम दुर्लभ हो जाएँगे
जब सब कुछ छोड़-छाड़ कर
हाथ पसारे हम चले जाएँगे

-


23 MAR AT 23:58

सीने में दर्द का बोझ उठाए फिरता हूँ,
जिंदगी के सफर में थका हारा सा चलता हूँ।

खो गई भूख, प्यास भी अब तो बिसरा बैठा हूँ,
नींद के सागर में डूबा, जागना भूल बैठा हूँ।

मार्च की धूप में भी, फरवरी की सर्दी पाता हूँ,
जेब में चंद सिक्के लिए, जीवन को तरसता हूँ।

खुशियाँ भी अब तो अजनबी, ग़म भी नहीं आते,
बस एक निश्चिंत नींद में, सब कुछ भूल जाता हूँ।

मौत का डर नहीं मुझे, दर्द से यारी हो गई,
जिंदगी दूसरों के लिए, अपनी तो कहीं खो गई।

रात की गोद में सिर रख, आंसू भी सूख गए,
हंसी और रोने की रात, अब तो बस याद रह गए।

काश वो आए और मुझे गले लगा ले,
इस आभासी दुनिया से, मुझे आज़ाद करा दे।

दिन रात का फर्क मिटा, सब एक सा हो गया,
जिंदगी की राहों में, हर खुशी खो गया।

दुनिया की भीड़ में खड़ा, अकेला मैं सोचता हूँ,
क्या खोया, क्या पाया, बस यही पूछता हूँ।

जिन्हें खुश करने में, अपना सब कुछ लुटाया,
आज वो भी नहीं, जिनके लिए जीवन गँवाया।

अब तो बस एक ख्वाहिश है, चैन की नींद सोना,
इस दर्द से मुक्ति पाना, और खुद को खोना।

-


22 MAR AT 19:30

होली का त्योहार है, रंगों का बहार है,
पर मेरे हाथों में, कलम का ही रंग सार है।

गलियों में गूंजे हैं, खुशियों के तराने,
पर मेरी आँखों में, बस रोजगार के अफसाने।

रंगों से खेले सब, मैं खेलूँ अपने सपनों से,
होली तो फिर होली है, जब जीवन में रंग भरों से।

दिवाली की ज्योति सी, रोशनी का इंतजार है,
बेरोजगारी की अंधेरी रात में, उम्मीद का संसार है।

जब तक नौकरी ना मिले, त्योहार भी फीके लगते हैं,
जीवन के इस मोड़ पर, सब रंग बेरंगे लगते हैं।

पर हार नहीं मानूंगी, लड़ूंगी इस जंग से,
भरूंगी रंग अपने जीवन में, अपने संघर्ष से।

होली के इस मौसम में, कलम का रंग चढ़ाऊंगी,
अपने सपनों की होली, खुद ही मनाऊंगी।

और जब रोजगार मिल जाएगा, दिवाली भी आएगी,
जीवन में फिर से खुशियों की लहर छाएगी।

तब होली भी होली होगी, दिवाली भी दिवाली होगी,
हर दिन उत्सव होगा, जब जीवन में रोशनी होगी।

-


21 MAR AT 11:13









-


11 MAR AT 21:54

One human can only say,
"Oh God" so many times.
The first time we made love I realized why,
I never prayed.

In the quiet of night, our bodies entwined,
Lost in the rhythm of passion's sweet rhyme.
Your touch ignites flames deep within,
A symphony of longing, a forbidden sin.

With each whispered breath, a symphony of sighs,
In the moon's soft glow, our love defies
The constraints of the world, the judgments of men,
As we surrender to desire, again and again.

The taste of your skin, a divine elixir,
In the silence of darkness, our souls intertwine.
Exploring every curve, every secret space,
In this sacred sanctuary, we find our grace.

Bed strokes echo the melody of our lust,
As we dance in the fire, consumed by our trust.
In the heat of the moment, we're bound as one,
In a dance of ecstasy, until the night is done.

For in your arms, I find my salvation,
In the depths of desire, our hearts find elation.
With each tender touch, we transcend time,
Bound together in love's sweet chime.

So let us revel in this sacred place,
Where passion and love interlace.
For in your embrace, I find my home,
In the depths of desire, where we're free to roam.

-


8 MAR AT 22:49

MahaShivratri is the night
To awaken the Shiva
Within oneself
To find solace in the depths
Of our own divine essence
Before the world bids
'Rest in Peace'
Let us first find
'Rest in Shiva'
In the tranquil embrace
Of our inner divinity

-


8 MAR AT 22:15

If You Wish To Find Peace In Life,
Rest In Shiva.
After Death, When Others Bid You,
Rest in Peace,
You Shall Truly Rest In Shiva Divine Tranquility.

-


5 MAR AT 22:57

In the hush of night, as shadows dance,
Your presence ignites a sultry trance.
With every step, my heart takes flight,
As you enter, my world alight.

Your eyes, they sparkle, a seductive gleam,
In their depths, passion's fiery stream.
With each glance, my soul's aflame,
Lost in desire, I call your name.

Your touch, a velvet caress so divine,
Sending shivers down this spine of mine.
As your hands explore, with tender grace,
I lose myself in your embrace.

Lips meet in a fervent, longing kiss,
A union of souls, in sweet abyss.
Breath mingling, hearts beating as one,
In this moment, all else undone.

Soft whispers, promises in the night,
As we surrender to love's sweet delight.
Exploring desires, unbound and free,
Lost in the depths of ecstasy.

Breasts pressed against your chest so strong,
In this embrace, where we belong.
Every sensation, every touch,
Echoes of passion, we crave so much.

So let our love be a blazing fire,
Consuming us with raw desire.
In your arms, I find my bliss,
Lost in the magic of your kiss.

-


5 MAR AT 22:50

In the velvet night, your lips ignite,
Moonlight dims in your sultry sight.
Breathless whispers, as we entwine,
Your touch electric, igniting a shrine.

Softly, your curves I trace and explore,
Passion's flame, a seductive encore.

-


5 MAR AT 20:02

दिल ने धड़कना छोड़ दिया, जब से तू बेखबर हो गया,
ज़िंदगी भी खराब सी लगने लगी, जब तेरा असर हो गया।

ग्रेड्स का क्या है, वो तो उतार-चढ़ाव है ज़िंदगी के,
सेहत भी नासाज़ हो गई, जब से तू नज़र से गिर गया।

फ्यूचर की बातें तो दूर की कौड़ी हैं, जब हाल ही खराब है,
किस्मत तो जैसे रूठ गई है, जब से तू मुझसे खफा हो गया।

शकल पे ना जा, वो तो बदलती रहती है, जैसे मौसम की तरह,
मूड तो तब खराब होता है, जब तू याद आता है और फिर चला जाता है।

-


Fetching Shanky Salty Quotes