Sanket Shukla  
122 Followers · 97 Following

❤️
Joined 1 January 2018


❤️
Joined 1 January 2018
Sanket Shukla 14 JUL AT 17:24

कोई हमें बदनाम करे ये कोई बड़ा इल्ज़ाम नहीं,
लोग जाने अनजाने न जाने क्या क्या कहते हैं।

-


8 likes
Sanket Shukla 13 JUL AT 11:07

सोच सकता हूँ जन्नत का ख़याल मैं भी
लेकिन,
वो ख़याल महज़ ख़याल ही तो है...!

-


8 likes
Sanket Shukla 28 JUN AT 10:24

तूफानों का दौर है ये साहब,मगर ;
पेड़ों की जड़ें फड़फड़ाया नहीं करतीं !

-


10 likes
Sanket Shukla 9 MAR AT 9:14

सब चाहते हैं जो वो मुझसे नहीं होगा,
समझौता कोई तुम्हारे बदले नहीं होगा।

-


19 likes · 1 share
Sanket Shukla 7 MAR AT 14:35

कोई समझे तो ये बात समझा देना ,
ख़ुदा की पनाह में जाना कोई गुनाह नहीं।

-


14 likes
Sanket Shukla 22 FEB AT 19:48

मुद्दतों बाद ख़्वाब में तुझे सोचा मैंने,
सोचकर सोचा हाय क्या सोचा मैंने।

-


Show more
9 likes · 2 shares
Sanket Shukla 20 FEB AT 15:24

महँगे तोहफ़े,सस्ते लोग ,
कौड़ियों के भाव बिकते लोग।

-


10 likes
Sanket Shukla 16 FEB AT 14:24

वो ख़ाकसार होकर भी करते हैं दो जहाँ रौशन ,
वतन पे जाँ लुटाने वाले यूँ ही मरा नहीं करते।

-


Show more
11 likes
Sanket Shukla 7 FEB AT 13:21

वो जिनसे महकता है मेरा जहां सारा,
उन्हें तोहफ़े में गुलाब क्या देना।

-


9 likes · 1 share
Sanket Shukla 6 FEB AT 14:09

मैंने खोली ही थी खिड़की कमरे की,
दीवारों का दिल धड़क कर बोला...
"रौशनी ज़रा कम आती है।"

-


11 likes

Fetching Sanket Shukla Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App