Ruchita Singh   (@zaaD_$heRni_RuChi)
4.0k Followers · 9 Following

read more
Joined 31 May 2019


read more
Joined 31 May 2019
21 APR AT 22:22

इन आंखों में तुझे छुपा लूं क्या
अपने होंठों की हंसी बना लूं क्या।

-


18 JAN AT 14:31

जब
तुम्हें प्रेम
मिलता है
तब तुम्हें मिलता है ईश्वर...
और
जब ईश्वर
मिलता है तो
तुम्हें किसी और
की आवश्यकता नहीं होती।

-


16 JAN AT 10:57

तुम जुल्फ़ों की बात करते हो
हम तो आंखों से भी कहर ढाते हैं।

जो कहना होता है मुंह पर कहते हैैं
हम वो नहीं हैं जो पीठ पीछे बातें बनाते हैं।

-


19 DEC 2021 AT 22:14

इन
सर्द रातों
में भी तुम्हारी
यादें किसी आग
की तरह मेरे अन्दर धधकती हैं।

-


5 DEC 2021 AT 10:08

जब लगे कि तुम्हारे पास
अब खोने को कुछ भी नहीं है...
तो खड़े होना एक बार
फिर से ये सोचकर कि
खोने को तुम्हारे पास
अब वैसे भी कुछ नहीं है।

-


24 NOV 2021 AT 21:52

बहुत किस्मत वाली होगी,
जो तुम्हारे लिए चाय बनायेगी।
तुम्हारा हाथ पकड़कर चलेगी,
तुम्हारा नाम अपने नाम संग लगायेगी।

-


7 NOV 2021 AT 9:42

कुछ ख्वाहिशों
कुछ जरूरतों
को इंसान दिल में दबाकर
इस आस में रह जाता है...
कोई बात नहीं
अगली दिवाली अच्छे से मना लेंगे।

-


8 OCT 2021 AT 16:53

खुद को दर्द देकर खुद ही आंसु बहाओगे।

-


19 SEP 2021 AT 13:03

क़रीब
आना तो
इतना
क़रीब
आना
कि कोई
तीसरा हमारे
बीच आ न सके।

-


8 SEP 2021 AT 11:02

प्रतीक्षा
प्रेम का
अहम हिस्सा है।

-


Fetching Ruchita Singh Quotes