Ravi Burman   (ⒹⒶⓇⓈⒽ)
375 Followers · 22 Following

read more
Joined 16 June 2018


read more
Joined 16 June 2018
Ravi Burman 7 DEC AT 9:36

सबको खुश करने की चाहत थी पर रोना पड़ा,
ज़माने ने इतने पत्थर मारे कि पत्थर होना पड़ा।

-


11 likes · 6 comments · 3 shares
Ravi Burman 3 DEC AT 0:28

हासिल नही कुछ पैसों से
झूठ से ना कुछ सिद्ध होगा।

अच्छे कर्म और सच्चे बोल
बस उन्हीं से तू प्रसिद्ध होगा।

-


15 likes · 1 comments · 2 shares
Ravi Burman 1 DEC AT 13:03

सृष्टि है जिनसे सारी,
सबका अस्तित्व भी उन्हीं से जारी।
न्याय पे हो चुका हैवानियत भारी,
बनती जा रही अबला हर नारी।

ये कानून कब सख़्ती दिखाएगा,
दिखती इसमें सिर्फ़ लाचारी।
निर्भया हो या प्रियंका,
बन कर रह गई बेचारी।

बदलाओ मिलकर लाना होगा,
व्यवस्था हो चुकी बाज़ारी।
जागो उठो अब देर ना करो,
क्या पता कल तुम्हारी बारी।

-


Show more
19 likes · 2 comments · 3 shares
Ravi Burman 29 NOV AT 14:22

जीवन के रंग बदल जाएँगे,
धड़कनों के ढंग बदल जाएँगे।

तुम्हारे बाद
दिल की हसीं सिर्फ़ लबों की होगी,
तेरे नाम की ज़िन्दगी सबों की होगी।

तुम्हारे बाद
इक दर्द छिपा होगा हर मुस्कान में,
जब-तक खत्म ना होंगे शमशान में।

-


Show more
17 likes
Ravi Burman 19 NOV AT 23:32

जो ना होता जिम्मेदारियों का बोझ कंधों पे,
निकल लिए होते हम, किन्हीं चार कंधों पे।

-


Show more
14 likes · 1 share
Ravi Burman 11 NOV AT 0:39

सफ़र है तो तय करना पड़ेगा,
किस्मत में नहीं तो बिछड़ना पड़ेगा।

कोशिशें हैं तो ज़िन्दगी के मायने हैं,
जीतने से पहले कई बार गिरना पड़ेगा।

-


15 likes · 1 comments
Ravi Burman 24 OCT AT 16:16

पैसों ने हर सुविधा जुगाड़ ली,
गरीबों की बस्तियाँ उजाड़ दी।

पैसे वालों पर पैसे बरसते हैं,
कुछ रोटी-कपड़े को तरसते हैं।

-


Show more
26 likes · 3 shares
Ravi Burman 20 OCT AT 22:16

मुद्दतों उनसे फ़ासलों का सबब था,
अचानक उनका मिलना भी गज़ब था।

'दर्श' पाकर चमक उठी थीं आंखें,
मेरा इश्क़ वो कभी, मेरा मज़हब था।

-


Show more
15 likes · 2 shares
Ravi Burman 17 OCT AT 15:56

ना अब इश्क़ करेंगें, ना बेवफ़ाई होगी।
दीपावली है सर पे, बस सफ़ाई होगी।

-


Show more
13 likes · 1 share
Ravi Burman 15 OCT AT 13:34

हमने माना उन्हें बहुत प्यार था,
उन्हें क्या पता हमें भी बेशुमार था।

ज़ाहिर करने की फितरत नही हमारी,
पर सारा दिन रहता उन्हीं का खुमार था।

-


16 likes · 1 comments

Fetching Ravi Burman Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App