23 JUL AT 20:45


एक ही तो मेरा सपना था
जो लगता सदा अपना था
हर दुख झेलकर जी लेते
तुम्हारे साथ मुझे रहना था
तुम चुपचाप चले गए दूर
ऐसा तुमको नहीं करना था
तुम बिन हम जिएंगे कैसे
एक बार तो जरा सोचना था

-