सारी तरकीबें आप आज़मा लीजिये
आँखें पढ़ने का दावा भी पेश कीजिये
तिलिस्मी तहखाना है औरत का मन
जानना हो तो अनपढ़ ही मिला कीजिये!

- प्रज्ञा