प्रज्ञा मिश्र   (प्रज्ञा)
71 Followers · 47 Following

read more
Joined 20 September 2018


read more
Joined 20 September 2018

हमारी आखिरी मुलाक़ात में जो
किताब तोहफा थी अब हमसफ़र है,
तुम्हारी काली चाय की आदत
मेरे साथ अब पहाड़ों पर है।
तुम्हारे एहसास को तुम्हारी
पशमीना की शाल में जीते हैं
उसकी गर्माहट में ज़िन्दगी बसर है।

-


8 likes · 2 shares

किसी तस्वीर को
तस्वीर भी रहने दो
वे भी बोलतीं हैं,
ये क्या है हर वक्त
साथ एक तस्वीर के,
कैंची की तरह
कलम बोलती है।

-


5 likes · 3 shares

अब उनमें प्यार का नहीं चिड़चिड़ाहट का रिश्ता रह गया है। पास आने पर पता भी न चले की कोई अनबन भी थी, दूर रहने पर समझ न आए की होती थी तो क्या बात होती थी।

-


7 likes · 1 comments · 1 share

वक़्क्त जाते-जाते जो एक चीज़ हमेशा के लिए अपने साथ ले जाता है वो है मासूमियत अक्सर पुरानी तस्वीरों में दिख जाती है सादगी के लिबास में ।

-


5 likes · 2 shares

खुश हूँ तुझसे अलग होकर
अपनी मानसिक यायावरी में
तेरा किनारा.....
मुझे रास नहीं आता।

-


1 likes · 1 share

यदि हम वृक्ष नहीं,
शाखों से टूट जा बसे हैं कहीं
तो हम बीज सही।

-


5 likes · 2 shares

रिश्ते तो जन्म लेते से तय हो जाते हैं।
समय के साथ होगा क्या ये किसने देखा है।
आज पता नहीं आपके बिना जीना कैसे है
कल पता नहीं आप किस हालात में कहाँ कैसे हैं।

-


11 likes · 2 shares

Singer Anuradha Paudwal and Actress Sri Devi

-


Show more
4 likes

वो मछली जिसकी क्षमता थल पर
साँस रोक कर रख पाने से
आँकी जाती हो।

-


Show more
14 likes · 2 shares

कितनी संभावनाएं हैं बाकी हैं अभी दुनिया में
लिप्स्टिक के शेड्स
आई लाइनर के शेड्स
हेयर स्टायल
देसी ड्रेस विदेसी ड्रेस
इत्ते नेलपॉलिश के शेड्स
उनके कॉम्बिनेशन्स
सेट पर मैचिंग बेस
आई लेंस के शेड्स
हाइलाइटर के शेड्स
फिर विरार लोकल में
केहुनियाँ के लेना अपना स्पेस , हुँह
लाइफ इज़ ब्यूटीफुल ! 😊

-


10 likes · 1 comments · 1 share

Fetching प्रज्ञा मिश्र Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App