कैसे लिखते हैं जब नहीं लिखते
किसी के पढ़ने के लिए
न तो तुक मिलान के साथ
बहुत ही अन्यमनस्क हो
जैसे अपनी ही कोशिकाओं
से जिरह चुप-चाप होती हो
कैसे लिखते हैं जब नहीं लिखते
पॉपकॉर्न से फूटते विचार
और दुविधा में गाना सुनते हम।

- Pragya Mishra 'पद्मजा'