Prerna  
6.6k Followers · 19 Following

read more
Joined 9 October 2018


read more
Joined 9 October 2018
Prerna A MINUTE AGO

जो जितना चाहेगा उतना लिखकर छोड़ देगा
हर कोई तेरी कहानी में, नया एक मोड़ देगा,

मिलन किसी से हो, खुद से जुदा मत होना
जो जुड़ ना पाया तुझसे, वो शख़्स तुझे तोड़ देगा,

नादानी के फैसले, और ग़लती भी जायज़ है
कुछ सीख ना पाया तो, वक्त तुझे झिंझोड़ देगा,

हद से गुजरना हो, तो मंजिल खुद को बनाना
गैर किसी का ख़्याल, लाकर हद में तुझे छोड़ देगा,

रिश्तों की गुणा भाग तू, उस पर ही छोड़ दे
वो एक घटाकर ना जाने, फिर कितने जोड़ देगा,

रहना है इत्र की बस्ती में, तो काँटों सा मिज़ाज रख
फूल बन गया तो यकीनन, कोई तुझे निचोड़ देगा!

-


Show more
10 likes · 2 comments
Prerna 9 HOURS AGO

निष्प्राण करती हुई वायु
जीवन हरता जल होगा,
सन्मार्ग अपना, हे मनुष्य!
कल नहीं कोई कल होगा!

-


Show more
129 likes · 20 comments
Prerna 14 SEP AT 20:27

जब मिलती नहीं हैं
आवश्यकतानुसार
सुविधाएं उन्हें,
तब धरती माँ अपनी
गोद में उठा लेती है
और ढ़क देती है उनके
शरीर को धूल और मिट्टी से,

वो सड़क पर बेघर
दिखने वाले बच्चे,
गन्दगी में नहीं
धरती माँ के स्नेह में सने होते हैं!

-


Show more
212 likes · 50 comments
Prerna 14 SEP AT 13:32

मोह त्याग के
अथक प्रयास
करता है मनुष्य,
मोक्ष के मोहवश!

-


196 likes · 33 comments · 3 shares
Prerna 14 SEP AT 7:54

जैसे स्त्री के श्रृंगार को पूर्ण करती है बिन्दी,
ऐसे हम भारतीयों को सम्पूर्ण करती है हिन्दी!

-


Show more
204 likes · 44 comments · 1 share
Prerna 13 SEP AT 15:20

समाधिस्थ शिव की शान्त छवि सा है मेरा प्रेम,
कविता में व्यक्त किसी मौन कवि सा है मेरा प्रेम!

-


Show more
208 likes · 44 comments · 4 shares
Prerna 12 SEP AT 20:25

प्राचीन काल से ही
स्त्री पर ये इल्ज़ाम रहा है,
रामायण में सीता
महाभारत में द्रोपदी का नाम रहा है,
जबकि मनुष्य का विध्वंस
उसके अहंकार का परिणाम रहा है,
कारण किसी भी युद्ध का
कोई स्त्री नहीं रही
यदि रहा है उससे जुड़ा कुछ
तो वह स्त्री का अपमान रहा है!

-


Show more
264 likes · 78 comments · 1 share
Prerna 12 SEP AT 11:31

खुद बिखर कर समेटे हैं सपने किसी के,
तब जाकर बन पाये हम अपने किसी के!

-


239 likes · 44 comments · 1 share
Prerna 10 SEP AT 23:52

मैं वही तारा हूँ, जिसे तोड़कर मेरे महबूब ने
अपनी मुहब्बत की सलामती की दुआ की है!

-


213 likes · 51 comments · 2 shares
Prerna 9 SEP AT 20:29

किसी मन्दिर की चोखट पर लगे
उस पत्थर के
समान होता है प्रेम,
जिसे
ईश्वर से पहले, माथा टेक कर
पूजा जाता है!


-


Show more
261 likes · 62 comments · 1 share

Fetching Prerna Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App