Prakriti Kumari   (Mon@l)
221 Followers · 9 Following

read more
Joined 24 July 2019


read more
Joined 24 July 2019
Prakriti Kumari 15 JAN AT 21:46

हमारी उम्र हमारी कामयाबी नही तय करती है
हमारी मेहनत और लगन हमे कामयाब बनती है

तुम्हारे रास्ते में काटें बिछाने वाले हज़ारो मिलेंगे
पर अगर मंजिल की तलाश है तो उसे पार भी खुद ही करोगे

किसी के शब्द तुम्हे रोके तो उससे रुको मत
आगे बढ़ो और खुद को शाबित कर पुरे दुनिया को दिखाओ

एक लड़की हो इस बात पर कभी न पछताओ तुम
इसका अभिमान करो और हर मोड़ पर लड़ो

तुम अकेली हो यह सोच कर खुद को न रोको
बल्कि खुद को खरा कर सबसे आगे चलो।।

-


13 likes · 2 comments
Prakriti Kumari 7 JAN AT 23:19

शरीर तो न झोरा उसने कम से कम आत्मा तो न छीन
सात साल बीत गए वो फिर भी आज़ाद है,
मेरी क्या गलती थी जो मैं दूर हो गई!
आज भी बेचैन हूँ क्या मिलेगा इन्साफ मुझे?

एक लड़की की जीवन क्यों राजनीती बन रही है?
क्यों एक बलात्कारी को इतनी इज्ज़त मिल रही है?
सवाल हज़ार हर एक बेटी कर रही है!
उसकी जिस्म की किम्मत क्यों ऐसे खुले आम बिक रही है?

अब क्या एक लड़की होना भी गुनाह बन गई है?
संविधान की न कोई किम्मत रह गई है!
उन दरिंदो को खुली हवा मिल रही है,
और इस देश की बेटी हर रात मर रही है।

जिस्म के उन राक्षसों से क्या अपनी पुलिश डर रही है?
अब किस आदालत में पेशी हो रही है!
क्या भटकती आत्माओ के सवाल की भी कब्र बना दी जाएगी?
क्या उन देह्शी दरिंदो को फांसी की सजा सुनाई जाएगी?

-


Show more
11 likes
Prakriti Kumari 4 JAN AT 20:48

कदम लड़खड़ाने के हज़ार वजह बन जाते है
पर अंत में संभलना हमें खुद ही पड़ता है

गिर कर खड़े होने वाले ही आखिरी में कामयाब होते है
क्योंकी उठना उन्हें बेहतर आता है

ज़मीन पर पड़े इंसान को कम मत समझना
क्योंकी भविष्य में हम उनके निचे हो सकते है

दुनिया के हर इंसान में कुछ करने की सक्ती होती है
पर पहचानने का हुनर उनमे होना चाहिए।।

-


13 likes · 4 comments
Prakriti Kumari 4 JAN AT 20:30

ज़रूरी नहीं मैं शायरी ही लिखू
ज़रूरी नहीं मैं कविता ही लिखू

मैं हर वो चीज़ लिखने को मरती हूँ
जहाँ ज़िक्र तुम्हारा करती हूँ।।।

-


17 likes · 5 comments
Prakriti Kumari 16 DEC 2019 AT 19:47

हर बार वो सोचती है सिर्फ दूसरों के लिए
माँ के रूप में जो होती है साथ मेरे।।।

-


21 likes · 4 comments
Prakriti Kumari 16 DEC 2019 AT 19:40

चाहे कदम कितने भी लडखडाये उठना तुम्हे ही है
हर मोड़ हर घड़ी गिर कर संभलना तुम्हे ही है
कब तक आखिर कब तक देगा कोई साथ तेरा
आने वाले मंजिल में पहचान तेरा ही है।।।

-


14 likes · 5 comments
Prakriti Kumari 15 DEC 2019 AT 21:35

तो हमेशा की तरह तुम खुद में होगे।।।

-


Show more
19 likes
Prakriti Kumari 13 DEC 2019 AT 16:10

हर मोहब्बत करने वाले साथ हो जरुरी तो नहीं
हर एक आशिकी का कोई नाम हो जरुरी तो नहीं,
वह नाम मेरा लेते हैं यह कम है क्या?
हर इश्क़ की कहानी का अंजाम हो जरुरी तो नहीं।।।

-


15 likes · 2 comments
Prakriti Kumari 8 DEC 2019 AT 21:22


यह भूमि है ज्ञान की यह भूमि है भगवान की
जहाँ बुद्ध ने किया ज्ञान को अर्जित वह धरती है बिहार की।।।

गणित के ज्ञानी नाम है आर्यभट जिन्होंने रचा सुन्य का अंस
जहाँ चित्र की रचना मधुबनी का जन्म वह धरती है बिहार की।।।

भाषाओं की न हो कोई सीमा भोजपुरी मैथिली में है जीना
जहाँ माँ सीता की भूमि है मिथिला, वह धरती है बिहार की।।।

जिसने दिया अनेक शहीदों को जन्म जो करते है भारत माता हो नमन
जहाँ से देश के सबसे ज्यादा आईएस है वह धरती है बिहार की।।।

हो बात पोशाक की या हो बात एक प्रशिद्ध खान की
जहाँ पूजते है डूबते चाँद को भी वह धरती है बिहार की।।।

बात हो कला की या फिर रचना की गुणगान हो बस इसकी
जहां उत्पन हुआ नृत्य कत्थक वह धरती है बिहार की।।।

-


Show more
21 likes · 20 comments
Prakriti Kumari 8 DEC 2019 AT 20:30

कितना अजीब होता है न वो पल।।।
जब वो मुझे मुझसे भी ज्यादा जानने का दावा करते है।।।

-


13 likes · 2 comments

Fetching Prakriti Kumari Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App