Neha Dwivedi   (Neha Dwivedi ✍️)
891 Followers · 74 Following

read more
Joined 27 February 2020


read more
Joined 27 February 2020
13 APR AT 0:02

छोड़ दी उसकी वफा की आस वो रुला सकता है,
तो वो भुला भी सकता है ।

-


12 APR AT 8:51

Empathy is beautiful......What you say today and what you do today will be, what you get and are told tomorrow. It’s just a matter of time...
Whatever goes around comes around.

-


12 APR AT 0:51



एक अश्क क्या गिरा,
रात लम्बी हो गयी,
चोट मन पर क्या लगी,
बात गहरी हो गयी,
तुम थम न सके,
हम थाम न सके,
साथ तुमने न दिया,
दिल पर चोट गहरी हो गयी।

-


3 APR AT 23:16

न जाने क्यों यूं ही मन को बहलाऊ,
तन्हा सी रातों में आंसुओं से कोई दर्द छुपाऊं,
क्या दूं आवाज,किसे इस सन्नाटे में,
भीड़ में भी मैं न जाने क्यों खुद को तन्हा पाऊं,
ज़ख्म हैं जो दिल पर ये मेरे कैसे मैं मलहम लगाऊ,
बिखरा सा हर हिस्सा दिल का कैसे मैं खुद को समझाऊ,
खो गया है जो मुझमें कुछ कैसे मैं उसे ढूंढकर लाऊ।

- नेहा द्विवेदी ✍️

-


29 MAR AT 23:39

Time is definitely the best healer,it takes time to process the relationship that has ended between you and your partner,Healing has so many worst phases but it’s necessary,and it's important for you,One day you believe that you'll fall in love again and you don’t think about dating anymore because you're still healing and slowly you start loving yourself and then you realise that you're in love with yourself.

-


24 MAR AT 1:34

Sometimes someone hurt you deep enough,just to let you know that they’re not the right one for you ..so...,Learn your lesson and move-on is the best way..!

-


19 MAR AT 1:13

तुम मेरे दिल में तो नहीं,पर मेरे ख्यालों में अभी बाकी हो..,
तुम मेरे ख्वाबों में तो नहीं,पर मेरे एहसासों में अभी बाकी हो..,
तुम मेरी खुशियों में तो नहीं पर मेरे गमों के हिसाब में अभी बाकी हो..,
तुम मेरी आंखों में तो नहीं,पर मेरे आंसुओं के किसी कतरे में अभी बाकी हो..,
हां!! तुम अब मेरी जिंदगी में तो नहीं पर मेरी जिंदगी की कहानी में कहीं बाकी हो।

-


17 MAR AT 1:12

कुछ निशानी बनी,
कुछ कहानी बनी,
ज़ख्म पुराना है,
दर्द ताजा सा है,
जो दिया जिंदगी ने वो कुछ ज्यादा सा हैं,
भूल जाऊं मैं कैसे,जो रवानी बनी,
दिल पर जो बीता,
वो जिंदगानी बनी।

-


17 MAR AT 1:05

यूं न गुजर जाओ,
कुछ पल ठहर जाओ,
सुन लो ये बात जो दिल में है
कुछ बात दिल की तुम भी कह जाओ।

-


17 MAR AT 1:02

आँखों ही आँखों में बातें इशारों में तुमने जो मुझसे कहीं,
ऐसा क्यों लगता है जैसे की तुमको भी मुझसे मोहब्बत हुई।

-


Fetching Neha Dwivedi Quotes