6 JUN AT 20:27

इक दुनिया मेरी भी है,
जिसमें मेरा कुछ भी नही है।

- Nirmesh