21 OCT AT 13:00

चंदा सी सूरत तेरी,
वैसा ही शीतल प्यार तेरा।
तेरी छाया बन के रहूं,
बिन तेरे क्या वजूद मेरा?

- Nirmesh