Nandram Aanand   (आनन्द)
140 Followers · 31 Following

...कुछ भी नहीं .
Joined 9 April 2017


...कुछ भी नहीं .
Joined 9 April 2017
Nandram Aanand 13 AUG 2017 AT 16:23

सत्य सदैव अश्लील होता है..

-


9 likes · 1 share
Nandram Aanand 13 AUG 2017 AT 16:17

तेरे अहसास की तितलियां मुझको छूती हैं बारहों ऐ मुहब्बत..
कभी लगता है कि तू है कि भरम तेरा...!

-


8 likes · 1 comments
Nandram Aanand 13 AUG 2017 AT 15:50

आदमी शरीर खोजता फिर रहा है और औरत प्रेम को मरी जा रही है..और दुर्भाग्य यह है कि दोनों का ही अन्त 'रिक्तता' है...

-


10 likes · 2 comments · 1 share
Nandram Aanand 9 AUG 2017 AT 22:27

ज़ख़्म ही ज़ख़्म का मरहम होगा..
कोई 'बा' तो कोई 'बे' रहम होगा।।

-


7 likes · 1 comments
Nandram Aanand 2 AUG 2017 AT 1:35

स्त्री और बिल्ली दोनों ही ख़ूबसूरत होती हैं!

-


4 likes · 1 share
Nandram Aanand 2 AUG 2017 AT 1:28

ज़िन्दगी और आराम नगर में एक समानता ये है कि दोनों ही समझ में नहीं आते!

-


2 likes · 1 share
Nandram Aanand 19 JUL 2017 AT 11:30

आत्मा प्लास्टिक की भाँति होती है..कभी ख़तम नहीं होती अर्थात् उसका बस रुपान्तरण होता है।

-


5 likes · 1 share
Nandram Aanand 18 JUL 2017 AT 13:59

मनुष्य जन्म से ही विद्रोही होता है बस उसकी शादी हो जाती है!

-


7 likes · 2 shares
Nandram Aanand 18 JUL 2017 AT 13:50

..मियाँ!वक़्त टमाटर को भी अर्श पर पहुँचा देता है...हम तो फिर भी आदमी हैं!

-


5 likes · 2 shares
Nandram Aanand 11 JUL 2017 AT 16:33

....अक़्लमंद औरत और बुद्धिमान आदमी ....दोनों ही अकेले होते हैं....

-


बुद्धि अकेला कर देती है...

6 likes · 1 comments · 1 share

Fetching Nandram Aanand Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App