Misty Pokhriyal   (Misty pokhriyal)
4.9k Followers · 83 Following

read more
Joined 7 April 2020


read more
Joined 7 April 2020
11 SEP AT 12:14

बड़ी ही खामोशी से वक़्त बीतता चला गया
एक रोज़ जो पल काटना ना मुमकिन लगता था

आज एक दफा फिर वो वक़्त आँखों के सामने आ गया
काश ला पाती तुम्हे मै उस खुदा से छीन कर
काश लगा पाती तुम्हे एक दफा फिर सीने से

काश काश काश
आज एक दफा फिर ये काश मुझे मेरे अकेले होने का एहसास करा गया ❤

-


1 SEP AT 13:54

क्यूँ आज़माइश करू मै सुकूँ की चाहत मे
आफ़ताब को पाने की
तेरी गोद मे सर रख मेरी हर थकान मिट जाती है

-


25 AUG AT 21:07

मै चंद गमों से हार कर ज़िन्दगी को बेज़ान समझ बैठा
मुखतसर मुलाक़ात से इल्म हुआ

मुसाफिर तरस रहे है
इस ज़िन्दगी को ज़ीने के लिए ❤

-


23 AUG AT 20:51

बे - इन्तहा ही तो चाहा था सिर्फ एक उस शक़्स को
जो नाकाम कोशिसों के बाद भी मेरा ना हो सका❤

-


14 JUL AT 22:16

बे - झिझक रौंदा है ज़ज़्बातो को मेरे
मेरी मयीयत से लिपट कर रो जाओगे

मै दफ़न कर चुकी हु तुमसे जुड़े हर पन्ने को सुकून - ऐ जन्नत की चाह मे
अब तुम कहा आओगे ❤

-


2 JUL AT 22:57

Mere sabdo me chipe jazbaat tum ho
Mera kal bhi tum mera aaj tum ho..

Mera din tum meri raat Tum ho
Meri khwaisho ki barsaat tum ho

Han, mere mukkamal hone ka raaz Tum ho.❤️

-


18 JUN AT 23:48

Ae khuda ye Sikyat - Aee manzar har pal meri Ankho me khatkta hai.

Kyu meri mohobbat ko Thukra kar vo dar Bdar Bhtakta hai.. 🖤

-


31 MAY AT 21:03

बेखौफ़ ही तो थी वो राते
जिन रातों मे मेहज़ एक तेरा साथ था.❤

-


8 MAY AT 22:08

कैसी ये रात है आज एक दफ़ा फिर बस तन्हाई
ही तो साथ है,

एक रोज़ जिनके लिए मुसलसल एक ख्वाब थे हम
आज उनके लिए मेहज़ एक बुरा सपना है❤

-


26 APR AT 20:27

सुकून - ऐ साहिल है यूँ अकेली राहों मे,किसी के होने का एहसास नहीं होता.

मै छुपा लेती हूँ बखूबी जख्म अपने, मेरा ज़ख्म किसी की हमदर्दी का मोहताज़ नहीं होता.❤

-


Fetching Misty Pokhriyal Quotes