Miss Tea (Mishty)   (Heartbeat ❤️)
2.3k Followers · 3.2k Following

read more
Joined 30 September 2018


read more
Joined 30 September 2018
Miss Tea (Mishty) 9 HOURS AGO

मुद्दतों से ख़्वाब रहते थे जहां,
उन आंखो में अब खारा पानी रहता है,

तेरे नाम से शुरू हुई थी जो,
जमाना उसे तेरी मेरी कहानी कहता है,

लिखती हूं पन्नों पर जो स्याही से,
दिल आज भी उसे मेरी नादानी कहता है,

मिले नहीं और बिछड़ के चल दिए,
मोहब्ब्त उसे तेरी आदत बचकानी कहता है,

वफ़ा के तोहफ़े में गम जिंदगीभर के,
वो बेवफ़ा उसे प्यार की निशानी कहता है,

मुद्दतों से ख़्वाब रहते थे जहां,
उन आंखो में अब खारा पानी रहता है,

-


Miss Tea (Mishty) 10 HOURS AGO

थोड़ी शरम,
थोड़ी बैचैनी,
गभराहट,
पसीना,
बिना जवाब,
सौ सवाल,
तेज़ सांसे,
उच्च रक्तचाप,
नीची नज़र,
सूखे होंठ,
अरे दोनों के वही
हालात ....
फ़र्क बस इतना की,
वो हमारी
पहली मुलाकात थी,
और
आज आखरी....!!!

-


Miss Tea (Mishty) 10 HOURS AGO

मेरी इक इक गज़ल में
इक इक हर्फ पढ़के देखना,
ठुकरा दिए जाओ गर
मेरे दर्द को महसूस करके देखना,

-


Miss Tea (Mishty) 16 HOURS AGO

चाई और भाई
हर तकलीफ़ में
याद आते है

-


Miss Tea (Mishty) YESTERDAY AT 0:39

इक लड़का है नटखट सा
जो कविताओं में बड़ी बड़ी बातें लिखता है

कहने को समजदार बहुत,
पर जताता जैसे वो हमसे सीखता है,

मुस्कान चेहरे की दिल में उतर जाती है,
अपनापन हर मोड़ पे दिखता है,

ख़ुशी हो या गम कभी पीछेहठ नहीं,
हर एहसासों को हथेली पे रखता है,

झांक लेता हमारी आंखों की गहराई को
फ़िर जाने कैसे हर तस्वीर खींचता है,

शुभमन का दिल अज़ीज़ शख्स है ये
इस दौर मैं ऐसा यार कहां मिलता है,

-


Miss Tea (Mishty) 2 AUG AT 11:17

-


Miss Tea (Mishty) 2 AUG AT 0:46

तु दुर है मुझसे... तु पास है मेरे,
तेरे बिन होते नहीं रात और सवेरे
😍Happy friendship day mannudi😍

-


Miss Tea (Mishty) 1 AUG AT 18:07

वक़्त का तकाज़ा है दोस्त!!
चाय हो या इश्क़
छानने में ही मज़ा है दोस्त!!

-


Miss Tea (Mishty) 1 AUG AT 11:57

या ख़ुदा!! बेशक लाएगा ये चाँद खुशियों का झोला,
आप हर तिश्नगी पे कुरबत_ए_रोशनी बिखेर दीजिए जरा!!
(तिश्नगी - darkness, कुरबत- closeness)

माना की ना देखा है, ना छुआ है, ना पाया है आपको,
आप वाबस्ता_ए_रहनुमाँ का एहसास दीजिए जरा !!
(वाबस्ता - relataed to)

हम सजदा करते है कभी अपने तो कभी गैरों की खातिर,
आप जोली में मुसलसल मेहर_ओ_माह दीजिए जरा!!
(मेहर_ओ_माह - sun and moon ,
musalsal - constant)

इबादत कुबूल कर लेना आज हर एक कि इलाही !!
आप हम बेबस की ताबीर_ए_ ख़्वाब मुक्कदर कीजिए जरा!!
( ताबीर - fulfill)

लफ़्ज़ों में क्या बयाँ किया जाए हमसे ख़ुदा की रहमत,
रिवायतों में ईदी की हर मुर्शीद को तस्कीन_ए_ज़िंदगी दीजिए जरा!!
(ईदी - gift for Eid, मुर्शीद - guide, तस्कीन - संतोष)

-


Miss Tea (Mishty) 1 AUG AT 1:03

किसीको सदा के लिए
जाते देखना
कतई
सरल नहीं होता है किसी के भी लिए नहीं,
आखिरकार
वो भी चला ही गया किसी और के लिए
और मैं
मानो पार्थिव शरीर देख रहा है
जाती हुई रूह को,
ठीक वैसे ही
वो भी अपने कंधे पर ले गया
साथ निभाने के वादे, कुछ इरादे,
कुछ टूटे फूटे सपने,
इक निर्जीव रिश्ता
और
मेरी ज़िन्दगी भी!!

-


Fetching Miss Tea (Mishty) Quotes