मेरी कलम से... आनन्द कुमार  
23.9k Followers · 305.9k Following

शब्दों से कुछ-कुछ कह लेता हूं...
Joined 10 April 2018


शब्दों से कुछ-कुछ कह लेता हूं...
Joined 10 April 2018

पार्टी कोई भी हो चाहे सत्तासीन या विपक्ष की, उसे इस समय सिर्फ और सिर्फ देश (कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव) के लिए काम करना चाहिए। अपने संगठन के लिए किसी भी प्रकार के गतिविधि से उसे बचना चाहिए तथा अपने कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को कोरोना काल के संकट में जनता कैसे बचाव करे इस उद्देश्य के साथ जनता के बीच भेजना चाहिए।
जय हिन्द जय भारत...

-


66 likes · 4 comments · 2 shares

बस यूं ही मुस्कुराया करो अच्छा लगता है,
इस दर्दे दिल को भी सुकून मिल जाया करता है।
प्यार का हौंसला मिलता है तेरे मुस्कुराहट से,
मेरे इश्क में तेरे चाहत का रंग चढ़ जाया करता है।
मेरी आशिकी का सुरूर है तेरी आशिकी से,
तेरे लबों से मेरे दिल को करार मिल जाया करता है।
बस यूं ही मुस्कुराया करो अच्छा लगता है,
इस दर्दे दिल को भी सुकून मिल जाया करता है।

-


82 likes · 3 comments · 1 share

...आज विश्व तम्बाकू दिवस है,
आज सरकार आपको तम्बाकू छोड़ने के लिए तरह-तरह से जागरूक करेगी।
कल जब देश का बजट पेश करेगी तो उसमें तम्बाकू सरकार के मुख्य प्रोजेक्ट में होगा।
जय हिन्द जय भारत...

-


82 likes · 2 comments · 3 shares

ना खंजर लिए,
ना तोप लिए,
जंजर हालातों में,
मजबूत दिल लिये,
दिन रात चलता हूं मैं।
फटी धरती, सूनें खेत,
बदहाल गरीब,मरते किसान,
गोली बारी या लाचारी,
भ्रष्टाचार हो या दुराचारी,
बस चलता हूं मैं।
पोजिशन समाज में,
कुछ अच्छा है पर,
घर की हर जरुरत के लिए,
हां तरसता हूं मैं।
जिसके हाथ में,
मेरी कलमों की सच्चाई है,
उसी के द्वारा कुचलता हूं मैं।
आईना बनने निकला था बड़े शौक से,
पर अपनों द्वारा ही रोज छलता हूं मैं।

-


78 likes · 4 comments · 2 shares

संभाल कर रखा हूं वजूद ए कलम को,
दर्द बहुत है मगर उसी के साथ जीता हूं ।

पत्रकारिता दिवस की आप सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।

-


96 likes · 2 comments · 2 shares

एक वादा है,
एक सोच है,
एक चैलेंज है।
जिसे यकीन ना हो,
वो आजमा लेगा।
मेरा दावा है,
और यह हकीकत है।
सचमुच अगर आप देश की,
तस्वीर बदलना चाहते हैं।
तो बदल जायेगा देश,
बस खूद को,
बदल कर देख लेना।

-


79 likes · 4 comments

यह "इश्क" भी बड़ा "निकम्मा" निकला,
"वफा" भी ना किया और "बेवफा" भी कह गया।

-


#yourquote #yourquote #yourquotes #yourquotedidi
05 साल पहले के शब्द...

91 likes · 3 comments · 2 shares

"अल्का" जी "हल्का" ना होइए,
रोपिए, बोइए वही जो काटना चाहती हैं।
कम से कम नेता होने का नहीं, महिला होने का "लाज" तो रखिए।

-


82 likes · 2 comments · 1 share

"सोनू" नाम पर तो लोगों ने अक्सर ठहाका लगाया और "सूद" पर तो कांप जाते हैं लोग,
फिर यह ''सोनू सूद'' लोगों को सुकून कैसे दे रहा।

तुझे तो जय हिन्द बोलने को जी चाहे...
...जय हिन्द ...सोनू सूद

-


100 likes · 2 comments

डर ने हमेशा हमें, कमजोर किया है,
मैनें अब उससे, नाता तोड़ लिया है।
जिसे आजमाना है, आजमा ले मुझे शौक से,
जिंदगी में मैनें, इश्क का अमृत घोल दिया है।
मेरे रंग और लिबास पर, न जाएगा कोई,
मैनें दर्द से दोस्ती कर, उससे नाता जोड़ लिया है।

-


96 likes · 2 comments · 2 shares

Fetching मेरी कलम से... आनन्द कुमार Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App