Mann  
11.1k Followers · 11 Following

read more
Joined 20 March 2018


read more
Joined 20 March 2018
12 SEP AT 9:10

मैं बेड़ियों में जकड़ा हुआ उड़ने के ख़्वाब देखता हूँ
मैं एक पंछी हूँ ख़ुद को पिंजरे में आज़ाद सोचता हूँ

-


22 AUG AT 14:06

कलाई बांधकर चैन हो ,अपना हिफाज़त सोचती,
सिवा बहन के एक सूत पे इतना एतबार किसको है!

-


29 JUL AT 9:55

वो क्या है जो तुम छिपाये बैठे हो?
मशक़्क़त इतनी है जो घबराये बैठे हो?
क्यों रखे हो तुम खुद को ज़माने से अलग?
क्या तुम भी किसी से दिल लगाये बैठे हो!?

-


10 JUL AT 10:11

मेरे घर के बचे चंद सिक्के, मेरी हसरतों को मारे
एक पहलू में मेरी ख्वाहिश, एक पहलू में दर्द सारे

-


25 JUN AT 8:55

खुद को जिन्दा कर आया हूँ मैं कब्र में
कितने दिन मरा रहता एक बेवफ़ा के सब्र में

-


6 JUN AT 9:26

बेचैनी,शर्म,हया,मोहब्बत ना जाने क्या क्या आज मेरे साथ है
किस तरह इज़हार करूँ उनसे इश्क़ का,आज पहली मुलाकात है

-


14 MAY AT 9:17

शबभर ये जिस्म चांदनी में भीगा
चांद की याद में चांद देखते देखते

-


18 APR AT 9:15

एक कर्ज़ सा है मुहब्बत अब मुझपर
इश्क़ खत्म हो गया उसका दर्द बढ़ रहा है।

-


31 MAR AT 9:36

Your Truth remains unaltered
No matter how many times
You lie to yourself or
Someone else!

-


5 MAR AT 10:10

(something for you and a Thankyou)

-


Fetching Mann Quotes