Kavious words   (Kavious✍️)
377 Followers · 34 Following

(buggu❤️)
self written ✍️
All right reserved📌
Joined 29 July 2020


(buggu❤️)
self written ✍️
All right reserved📌
Joined 29 July 2020
13 HOURS AGO

सबका सामना करो डटकर
यहाँ कोई नहीं कहने को
कि क्यों रहते हो तुम छिपकर
भूल सारे दुखों और गमों को
तूम फिर से एक नई शुरुआत करो

-


13 HOURS AGO

इस सूखे से मंजर को क्या कहें
दिल भी टुटा और दरिया भी सूखा
ना चाहते हुए भी क्यों ये नजारा छूटा ।।

ऐ रब तू ही बता अब कि तूने ऐसा
राह पर लाके क्यों अलग खड़ा किया ।।

आसमान मैं बादल कितने छाये
जैसे कोई गया है मुर्झाये ।।

देख ऐसे खौफनाक आलम को
ना जाने कितनों के दिल भर आए
क्यों रब तुझे फिर भी किसी का दुःख ना समझ आए ।।

नाव है नाविक दिखा नहीं यहाँ
सब कुछ छूट गया मगर मिटा नहीं ये समां ।।

-


13 HOURS AGO

जिसके मिलने कि आस
हमेशा मन मैं चलती रहती है
मिल ना सके वो कभी हमको
फिर भी ये बात दिल मैं लगी रहती है

-


13 HOURS AGO

सुबह सुबह पढ़ने बैठे हम
ना चाहते हुए भी ये क्या कर बैठे हम
थोड़ा अच्छा लगने लगा था पढना
देखते ही देखते किताबों मैं खो बैठे हम

-


14 HOURS AGO

फिर से मुझसे सवाल किया
कहा ऐसा क्या था तेरे पास
जो तूने खो दिया
चाहत कि भी थी तूने ऐसी
जिससे मोहब्बत ना मिले वापस
ऐसे से तूने इश्क़ किया

-


YESTERDAY AT 15:30

अब तक हम तो मर गए होते
तुम आए ज़िन्दगी मैं मेरी
तबसे हम सँवरे रहते
तुमसे प्रीत ही ऐसी लगी हमको
कि अब हम हम ही नहीं रहते

-


YESTERDAY AT 15:29

किताबों कि दुनिया फूलों से सज रही है
लगता है किसी को फिर से मोहब्बत हो रही है

-


YESTERDAY AT 15:20

हमेशा साथ निभाया तुमने मेरा
मेरे दोस्त तो कभी प्यार बनकर
तुमसे सिखा मैंने मरतबा
हज़ार बार जीना हर नई उम्मीद बनकर

-


14 APR AT 23:55

तेरा मेरा साथ ऐसा हो
जैसे आसमान मैं
चाँद सितारों का घेरा हो
तुम और तुमसे बातें
जैसे चाँद का कोई चकोरा हो

-


14 APR AT 23:53

फूलों जैसे रहना सिख लो
दूसरों को खुश देख
खुद बिखर जाते हैं
मगर कभी उफ्फ्फ ना हो
इसलिए काँटों के साथ
रहना सिख जाते हैं ये

-


Fetching Kavious words Quotes