59
Quotes
5.2k
Followers
9
Following

Hiral (🌷HiR@L✒️)

Hiral 20 HOURS AGO

समय इंसान की धीरज, बुद्धि और समता की
परीक्षा लेता हैं, और जो उसमें पास होगया
फिर समय उनके हिसाब से चलता है।।

-


Show more
126 likes · 30 comments · 1 share
Hiral 16 FEB AT 15:05

अकेले आए हैं और अकेले ही जाना है
तू कल की फ़िक्र न कर तुझे आज में ही जीना है

अपने टूटे सपने को लेकर तू अफ़सोस न कर
तू सफ़र की शुरूआत कर रास्ता ख़ुद मिल जाएगा

मंज़िल चाहे जितनी भी दूर हो तू हौसला बनाए रख
क़दम - क़दम बढ़ाने से मंज़िल भी पास आएगी

अपनी कमज़ोरी से लड़ो तो डर भी क़रीब नहीं आएगा
कर दिखाओ ऐसा तो वह ख़ुदा भी ख़ुश हो जाएगा।

-


Show more
209 likes · 43 comments · 2 shares
Hiral 10 FEB AT 16:03

आज बहुत तन्हाई है...
मन मेरा बेचैन है!!
अपनों के बीच क्यों तन्हा है!!
ये कैसा जुनून है...
जो अंदर ही अंदर मुझे जलाता है!!
दुनिया की इस भीड़ में...
क्यों ख़ुद को अकेला महसूस करती हूं!!
अपने सवालों से...
क्यों ख़ुद ही उलझ जाती हूं?
ये कैसी कशमकश है!!
क्यों सोचती हूं ये कहाँ आ गई मैं?
मन मेरा भर आया है...
कोई जी भर के रुलाले मुझे!!
इस दिखावे की दुनिया में...
अपनी पहचान ख़ुद ही बनानी है!!
चाहे जितनी आए मुश्किलें...
अपना आविष्कार मुझे ख़ुद करना है।।

-


Show more
217 likes · 46 comments
Hiral 5 FEB AT 13:32


मेरी दुआ है
मेरे अपनों की महफ़िल खुशियों से सजी हो!
उनकी हर ख्वाहिश पूरी हो...!
है दुआ मेरी रब से वह जहां रहे ख़ुश रहें!
चाहे हम उनके साथ हो या न हो।।

-


Show more
283 likes · 36 comments · 4 shares
Hiral 2 FEB AT 17:15

प्रेम है गंगा सा पवित्र नि:स्वार्थ शीतल धारा
राधा श्री कृष्ण की तरह प्रेम को समझो..!!
करुणा की धारा बनकर जीत लोगे अपनों के दिल! मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम बनकर तो देखो।।

-


Show more
254 likes · 53 comments
Hiral 30 JAN AT 15:26

मम्मी की गोद में सुकून की नींद मैं सोती थी!
पापा के साथ मैं रोज़ कहानी सुनती थी!
अब तो बड़ी कशमकश थी पढ़ाई जो सर पे थी!
सपने प्यारे बुनती थी अपनी ही धुन में फिरती थी!
मम्मी पापा की दुलारी अक़्ल से सयानी थी!
बचपन में शरारत करती थी चेहरे से मैं मासूम थी!
खेल खेल में वक़्त गुज़र गया अब तो बड़ी होनी थी!
भागदौड़ भरी इस दुनिया में यादें तो पीछे रहनी थीं।

-


Show more
334 likes · 65 comments · 1 share
Hiral 27 JAN AT 15:55

सब कहते हैं की क़िस्मत में जो लिखा है वही होगा
पर क्या क़िस्मत इंसान ख़ुद नहीं बनाता?
कभी सही निर्णय लेकर ,कभी ग़लत निर्णय लेकर!!
अर्थात :- भविष्य क़िस्मत से नहीं बनता
सही निर्णय लेने से भविष्य बनता हैं।।

-


Show more
382 likes · 76 comments · 11 shares
Hiral 25 JAN AT 21:37

संबंध को स्वतंत्र रहने दो...!!
इसे कोई बंधन की ज़रूरत नहीं
प्रेम निस्वार्थ हो वही सच्चा...!!
वरना स्वार्थी तो पूरी दुनिया है।

-


Show more
338 likes · 55 comments · 3 shares
Hiral 23 JAN AT 14:45

इंसान की पहचान उसके व्यक्तित्व
उसके सुंदर स्वभाव, उसके सत्कर्म से होती है!!
परिस्थिति जैसी भी हो पर इंसान को
अपनी अच्छाई नहीं छोड़नी चाहिए!!
सुख हो या दुःख जो इंसान अपने नियमों
अपने सिद्धांतों से चलता है
वास्तव में वहीं इंसान ख़ुद पर विजय होता है।।

-


Show more
345 likes · 61 comments · 1 share
Hiral 19 JAN AT 14:22

संघर्ष भरी इस दुनिया में आगे ही बढ़ते जाना है
लाख नीचे गिर पड़ूं फिर भी मुझे उठकर चलना है
अपने हिम्मत हौसलों से कुछ कर दिखाना है
लिखकर अपनी कविताएं मुझे इतिहास बनाना है

-


Show more
405 likes · 47 comments · 1 share

Fetching Hiral Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App