Harshit Mishra Naman   (✍️हर्षित "नमन")
940 Followers · 663 Following

मुझको "हर्षित" कहते हैं सब,
मेरा कोई नाम नहीं है!............🇮🇳🇮🇳❤️💕💗😍😘
Joined 13 June 2017


मुझको "हर्षित" कहते हैं सब,
मेरा कोई नाम नहीं है!............🇮🇳🇮🇳❤️💕💗😍😘
Joined 13 June 2017
Harshit Mishra Naman 24 JUL AT 0:28

होत भिनसहरे बोलेले कोयलिया कुहू-कुहू पुकारे बसवड़िया से,
मोर गउवाँ नीक लागेला शहरिया से।

निहुरि-निहुरि गोरिया रोपेली धनवा,
माथे से टप-टप टपके पसिनवा।
सखियाँ सहेली मिलि गावेलीं कजरिया, झूलेली झुलुअवा दुपहरिया से,
मोर गउवाँ नीक लागेला शहरिया से।

(पूर्ण गीत अनुशीर्षक में)

-


Show more
13 likes
Harshit Mishra Naman 18 JUL AT 1:04

अबहूँ बलमुआ अइलें ना!.....
महुआ निझरि गइल, पाकि गइल कोइना,
अबहूँ बलमुआ अइलें ना!........
कहले रहलें चढ़ते फगुनवा में आइब,
खड़हर घरवा बा आके बनवाइब।
बेसी होता तीन रे महिनवा,
अबहूँ बलमुआ अइलें ना!..........

-


23 likes · 6 comments · 1 share
Harshit Mishra Naman 1 JUN AT 23:44

अनमोल थी,
किन्तु लाखों में बिकी,
हाँ, वो बेटी थी!

-


Show more
36 likes · 4 comments
Harshit Mishra Naman 28 APR AT 11:54

हँसते, गाते रहे, मुस्कुराते रहे।
इस तरह दर्द अपना छुपाते रहे।

हाल मेरा किसी ने न पूछा मगर,
लोग आते रहे, लोग जाते रहे।

वो ख़बर लेने आया नहीं फिर कभी,
याद में जिनकी आँसू बहाते रहे।

चाल उनकी न आयी कभी भी समझ,
हम उठाते रहे, वो गिराते रहे।

ज़िन्दगी चार दिन की मिली थी मगर,
ज़िन्दगी भर उसे आजमाते रहे।

लोग जलते रहे देख करके मुझे,
हम सदा प्यार के गीत गाते रहे।

हमने अपने लिए कुछ कहा ही नहीं,
बस तुम्हारे लिए गुनगुनाते रहे।

दिल में लाखों है ग़म फिर भी सुन ऐ 'नमन',
हम सदा यूँ ही हँसते - हँसाते रहे।

-


Show more
25 likes · 6 comments · 2 shares
Harshit Mishra Naman 17 FEB AT 1:03

धरा रो पड़ी है, गगन रो पड़ा है,
पुनः आज अपना चमन रो पड़ा है।
छूकर के वीरों के चरणों को अब,
तिरंगा बना जो कफ़न रो पड़ा है।

-


Show more
45 likes · 8 comments · 2 shares
Harshit Mishra Naman 16 FEB AT 22:27

सो गए हैं वीर भारत के तिरंगा ओढ़ कर,
चल दिए हैं नेह के वे सारे नाते तोड़ कर।
अपने दिल से तुम कभी भी उनको न बिसराना,
मर मिटे जो देश पर मासूम बच्चे छोड़ कर।

-


Show more
43 likes · 2 comments
Harshit Mishra Naman 26 JAN AT 12:03

सूरज की किरणें भी गाथा आज गा रही हैं, भारतीय गणतंत्र पर्व की बधाई है।
लहर-लहर लहरा रहा तिरंगा आज, भारत में पूरे गूँज रही शहनाई है।
शेखर, सुभाष, अशफ़ाक और बिस्मिल जी, भारती के लालों ने आजादी दिलवाई है।
तिरंगा कफ़न ओढ़े पिया आये मण्डप में, प्रेयसी ने रक्त की रोली माथे लगाई है।

-


Show more
46 likes · 2 comments · 1 share
Harshit Mishra Naman 12 NOV 2018 AT 18:53

सुनि लीं ना हमरो अरजिया हे छठी मइया !
बलका तोहार माई कइलस बरतिया ।
नारियर , ठेकुअवा जे दउरा सजाइब ,
नदिया के तीरे माई देइब अरघिया ।
सुनि लीं ना हमरो अरजिया.....
हमरो तS गोदिया में दे दीं होरिलवा ,
सीता जइसन बिटिया दीं , महके दुअरिया ।
सुनि लीं ना हमरो अरजिया.....
अपने में लड़S ताटे सगरो तS लोगवा ,
देखउतीं हे सूरुजदेव रउरे डगरिया ।
सुनि लीं ना हमरो अरजिया.....
बरतिन के मनसा पुरायीं हे दीनानाथ ,
हमनी पे बनल रहे हरदम अशीषिया ।
सुनि लीं ना हमरो अरजिया.....

-


Show more
51 likes · 11 comments
Harshit Mishra Naman 1 OCT 2018 AT 2:00

हे माँ सुहासिनी , शास्त्ररूपिणी , आपको है प्रणाम ।
श्वेतकमलासिनी , हंसवाहिनी , आपको है प्रणाम ।।
माँ शोकनाशिनी , मात तारिणी , आपको है प्रणाम ।
माँ वरप्रदायिनी , ब्रह्मचारिणी , आपको है प्रणाम ।।

-


Show more
70 likes · 12 comments · 35 shares
Harshit Mishra Naman 28 AUG 2018 AT 20:38

हमने तुमको देखा तो नहीं ,
फ़ख़्र है तुमको पढ़ा 'फ़िराक़' ।

-


Show more
41 likes · 7 comments

Fetching Harshit Mishra Naman Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App