Gautam Kothari sanatni   (Gautam kothari Sanatni)
9.1k Followers · 102.4k Following

read more
Joined 8 December 2018


read more
Joined 8 December 2018
Gautam Kothari sanatni 52 MINUTES AGO

इशे कहते है...“ लोकतंत्र ”
ये है असल मे “हिन्दुराष्ट्र के सच्चे कर्मयोगी”
बालसोर लोकसभा (उड़ीसा) से नवनिर्वाचित भाजपा सांसद प्रताप चंद्र सारंगी जी एवं उनका निवास।
मोदी जी का भी जवाब नहीं, देश के कोने कोने से ज़मीन पर कार्य करने वाले ऐसे तमाम कर्मयोगियों को लोकतंत्र के मंदिर में अपने साथ लेकर आए हैं।



-


Show more
29 likes · 2 comments

मूर्ति-पूजा क्यों?

हिन्दू-विरोधी प्रश्न करते हैं कि भगवान तो अनंत हैं जिसका न आदि है ना अंत तो फिर उसे एक निश्चित आकार में बांधकर मूर्ति-पूजा क्यों?

(पूरा लेख caption में पढ़े)

-


Show more
126 likes · 9 comments

स्वतंत्रता के लिए प्रेरित करनेवाला महामंत्र
‘वन्दे मातरम्’ !
(पूरा लेख पूर्ण विस्तार से caption में पढ़े)

-


Show more
122 likes · 2 comments

यतो धर्मस्ततो: जयः
साध्वी प्रज्ञादीदी ठाकुर ने दिग्विजय सिंह को 3लाख 64 हजार से प्रचण्ड मतों से हराया।
यह विजय राष्ट्रवाद की आतंकवाद पर विजय है।
यह विजय धर्म की अधर्म पर विजय है।

-


Show more
92 likes · 4 comments

ॐ त्र्यंबकम् यजामहे सुगंधिम् पुष्टि वर्धनम्
उर्वारुकमिव वंधनान्मृत्योर्मुक्षीयमा अ्मृतात्।

हिंदी अनुवाद :
हम करते हैं चिन्तन उस त्रिनेत्रीय सत्य का। करता है जो अभिवृद्ध ,पोषित जीवन की मधुर परिपूर्णता को। हो जाती है विलग ककड़ी जैसे अपने ही जाले से, कर दो हमें भी मुक्त, मृत्यु से। और प्रदान करो हमें अमरत्व।

🚩🌸🌿 ॐ नमः शिवाय 🌿🌸🚩

-


Show more
87 likes

सच में योगी देखता कुछ नही पर अनुभव जरूर कर रहा होता है चेतना की गहन लहर को जो योगी में विशेष रूप से लहराती है..
क्योंकि योगी उन लहरों के संग बहना सीख लेता है, कोई बाधा नही बनता ना बनने देता है किसी भी चीज को..
क्योंकि योगी एक और रहस्य अनुभव कर रहा होता है कि चेतना की ये लहरियां यदि मुक्त कर दी गईं तो ये सीधे कैलाश की ओर ही जाएंगी सो योगी बस पीछे पीछे चल पड़ता है..
और एकदिन मुक्त चेतना उसकी उसे कैलाश का रास्ता दिखा देती है..
जहां वह परम शिव उन चेतना लहरियों का स्वामी बन समाधि में लीन है आदि अनादि काल से..
चेतना का परमचेतना से मिलन ही योग है और इसी से तृप्ति मिलती है स्थाई, अखंड और अनवरत..
🏵️🙏🙏🙏🏵️

-


Show more
96 likes

कल की चिंता नहीं..
कल की उत्सुकता होनी चाहिए..!!!

-


Show more
147 likes · 14 comments · 2 shares

जो देशहित की सोचेगा,
देश उसके हित की सोचेगा।

-


Show more
131 likes · 2 comments · 3 shares

पुण्यशाली की चलती है और
पापकरने वाले खुद चलते बनते हैं।

-


Show more
108 likes · 4 comments · 2 shares

सपने बड़े ही अनमोल है,सपने देखना जरूरी भी है..
सपने आप के ख़्वाब को प्रथम द्रष्टि से आकार देते है
मग़र याद रखे की...सपने देखना अलग बात है
और उसे साकार करना अलग बात है..!!!

-


Show more
106 likes · 2 comments · 2 shares

Fetching Gautam Kothari sanatni Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App