Bhavesh.1906   (bhavesh.1906)
388 Followers · 18 Following

Joined 4 July 2020


Joined 4 July 2020
18 JAN 2021 AT 0:36

मेरी मोहब्बत की सुबह हो , मेरे प्रेम की शाम हो तुम ।

-


18 JAN 2021 AT 0:29

अंधेरों की गहराईयों से निकलना चाहता हूं ,
मै उजालों से मुलाकात करना चाहता हूं ।

-


29 DEC 2020 AT 17:02

तुम मेरी संगिनी प्रीये , मै तुम्हारा प्रेम ,
प्रेम के बंधन में बांधे, हमें तुम्हारा ये प्रेम ।

-


14 NOV 2020 AT 11:20

सिया मिलन को तरसे राम ऐसे ,
पिया मिलन को तरसे ना कोई जैसे,

मिलन पूरा ना होए एक अरसे बाद ,
हमारा मिलन ना होए प्रिये एक अरसे बाद ।

-


2 NOV 2020 AT 13:55

धुएं की तरफ बन रहा हूं ,आग में तप रहा हूं,
यूं ही नहीं उड़ रहा हूं, हर एक कश से गुज़र रहा हूं ।

-


24 OCT 2020 AT 9:26

याद नहीं आती अब तुम्हे या याद नहीं करते ,
बदल रहे हो तुम या बदल गए हो ।

-


14 OCT 2020 AT 21:41

सड़क किनारे बैठ, लहरों का इंतजार कर रहा हूं ,
कुछ इस कदर मै तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं।

-


13 OCT 2020 AT 23:43

नींद नहीं आती अब तुम्हारे बिना ,
मेरी नींद को भीे प्यार की तलाश हैं।

-


12 OCT 2020 AT 21:25

मेरी यादों में महफूज़ हैं, तेरा प्यार मेरे दिल में महफूज़ हैं ।

-


12 OCT 2020 AT 9:11

तुझे अल्फ़ाज़ों में क्या बयां करू ,
तू मोहब्बत मेरे दिल की हैं ।

-


Fetching Bhavesh.1906 Quotes