Arpit Dwivedi   (गब्बर)
84 Followers · 46 Following

Student of Bsc.Ag.Hons. at AKS
Whatsapp : 7389502148
Joined 11 June 2019


Student of Bsc.Ag.Hons. at AKS
Whatsapp : 7389502148
Joined 11 June 2019
Arpit Dwivedi 29 JUN AT 0:53

घर पे तो शेहनायियो का शोर है....
मेरा दिल जानता है ये तन्हाइयो का दौर है.....!!
और तुम्हे दूर जाना है तो आजाद हो तुम.....
मेरी चिंता मत करना,अब मेरे साथ कोई और है.... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


12 likes
Arpit Dwivedi 20 JUN AT 19:24

मै गुज़रता हु जहाँ से, व्ही से घर जाती है वो.....
मुझे देखकर रास्ते में, डर जाती है वो.... !!
ये व्ही है या मै देखता हु उसके ख़्वाब....
सच की आहट में अक्सर बिखर जाती ह वो.... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


15 likes · 33 comments
Arpit Dwivedi 27 MAY AT 16:34

करूँ गुस्सा या हसु तेरी नादानियों पर.....
ज़माना कर रहा ह माफ तुझे तेरी शैतानियों पर.....!!
जिस वक्त लगी थी चोट हमें बताना था.....
अब क्या लगाऊ मरहम घाव् की निशानियों पर....!!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


17 likes · 2 comments
Arpit Dwivedi 15 MAY AT 22:40

आज परेशां हु मै, वो शख्स मुझे मानाने नहीं आया.....
मेरी बांहो को मरोड़कर,मुझे सताने नहीं आया.....!!
शाम ढली नहीं, सूरज अब भी चढ़ा हुआ है....
वो दरवाज़े की साँकर आज खटखटाने नहीं आया ..... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


11 likes · 2 comments
Arpit Dwivedi 5 MAY AT 10:58

तूने सर रखा था जिसमे वो कन्धा भी मेरा था....
तूने ज़ख्म भरे थे जिससे वो मरहम भी मेरा था.....!!
असर दिल पर आँसू कर गए बस, इतनी श्रद्धा तेरी थी.....
तूने जिसके गीत सुनाये वो सरगम भी मेरा था.....!!!!
अर्पित द्विवेदी

-


7 likes · 9 comments
Arpit Dwivedi 5 DEC 2019 AT 23:38

सिर्फ़ बाल सफ़ेद हुए है, दिल ये बूढ़ा नहीं हुआ.......!!
और जिन पन्नो को कुचल रहे हो, ये करकट कूड़ा नहीं हुआ...... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


16 likes · 7 comments
Arpit Dwivedi 5 DEC 2019 AT 22:17

तुम खिलौना समझते थे क्या दिल को , की खेला और तोड़ दिया ....... !!
बहाना था तुम्हारा की वक्त ख़राब है, लो अब मैंने घड़ी पहनना छोड़ दिया....... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


16 likes · 2 comments · 3 shares
Arpit Dwivedi 4 DEC 2019 AT 23:22

क्या मोहब्बत बदल गयी, ये तो बेवफाओं के आगे सर झुकाते है.......
अगर नहीं, तो ये कैसे नौजवां है जो माँ बाप पे हाथ उठाते है....!!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


9 likes · 4 comments
Arpit Dwivedi 4 DEC 2019 AT 13:51

कचरा घरों में समाया है, बीमारियों का दौर आने वाला है .....
बेवजह सड़के साफ़ हो रही है, जरूर कोई नेता आने वाला है ......!!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


17 likes · 2 comments
Arpit Dwivedi 4 DEC 2019 AT 13:40

ये रात रोशन ना होती, अगर सितारे ना होते.......
सांप भी खुले घूमते, अगर पिटारे ना होते.....!!
और ठाट में हो, ये असर है उनकी दुआओं का.....
अगर माँ बाप ना होते, तो तुम किसी को प्यारे ना होते.... !!!!
अर्पित द्विवेदी.

-


14 likes · 2 comments

Fetching Arpit Dwivedi Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App