Anupma Singh   (Anupma)
137 Followers · 10 Following

Mai...Anupma...
Joined 2 March 2019


Mai...Anupma...
Joined 2 March 2019
Anupma Singh 16 HOURS AGO

कल रात मैंने तेरे बेरुखी भरे शब्दों को मिट्टी मे दफना दिया
सुबह-सुबह वहां गजल के कुछ फूल खिले मिले..
✍मैं अनुपमा

-


7 likes
Anupma Singh 13 JUN AT 18:11

मुझे रहने दे तेरे दिल के मकां मे
अब ये अपना घर सा लगता हैं...
✍मैं अनुपमा

-


11 likes
Anupma Singh 11 JUN AT 14:25


थोड़ा पढने का वो भी आदी है
थोड़ी मेरी आँखें भी किताबी हैं...
मैं अनुपमा

-


18 likes · 1 comments
Anupma Singh 6 JUN AT 19:49

इश्क के भी कुछ रस्म - रिवाज है साहब
यू ही घूट-घूट के नहीं जीते है प्रेमी...
✍मैं अनुपमा

-


18 likes · 2 comments
Anupma Singh 5 JUN AT 21:10

जरा सी बात थी ,और तुम न समझ सके...
✍अनुपमा

-


13 likes
Anupma Singh 4 JUN AT 10:02


आज रास्ते मे "वो" मिला
जो हर वक्त मेरे साथ चलता हैं...
मैं अनुपमा

-


14 likes
Anupma Singh 31 MAY AT 14:52

मुझे किसी श्रृंगार की जरुरत नहीं
मैंने तुम्हारा इश्क सजाया है खुद पर
✍मैं अनुपमा

-


18 likes · 7 comments
Anupma Singh 28 MAY AT 23:09

पता नहीं क्यों..
हर बार तुझ से दूर जाकर तेरे और करीब आ जाती हूँ
✍अनुपमा

-


11 likes · 3 comments
Anupma Singh 25 MAY AT 10:50

परेशान नहीं करते है हम उन्हें आजकल
सुना है ये बात भी उन्हें परेशान करने लगी हैं
✍अनुपमा

-


20 likes · 5 comments
Anupma Singh 24 MAY AT 22:39

तुझे देखना और बस देखते जाना
इससे खुबसूरत और कोई काम नहीं...
✍मैं अनुपमा

-


14 likes · 1 comments

Fetching Anupma Singh Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App