Linea Creatarus   (रुद्राक्ष..)
3.9k Followers · 66 Following

😊Amit Gangwar 😊
Joined 7 October 2018


😊Amit Gangwar 😊
Joined 7 October 2018
Linea Creatarus 10 HOURS AGO

ओह्, आप अपनों की याद में, अजनबियों के जज्बात मसलने लगे हैं
काँटो ने रोका होगा हमराहियों को, आप यूँ ही आँख मलने लगे हैं
वाह! बेचारी मोहब्बत को जज्बातों से नाप लिया और
अजनबी - पराए में अटके हो ,लगा था इंसानियत के पाठ अब संभलने लगे हैं !

-


Show more
113 likes · 73 comments · 9 shares
Linea Creatarus 19 MAR AT 19:34

रंगो पर धूल !

(अनुशीर्षक)

-


Show more
185 likes · 120 comments · 10 shares
Linea Creatarus 17 MAR AT 11:06

क्यों तड़पते हो इतना प्रसिद्धि के लिए
कुछ न करोगे , तब भी यह दुनिया तुम्हें बाबूजी कहेगी !

-


Show more
379 likes · 145 comments · 33 shares
Linea Creatarus 14 MAR AT 17:33

विद्रोही प्रस्तावना खाँसने लगी
परिमित मण्डूकता फाँसने लगी

कवच मायूसी से पिघल गया
उद्घाटन समापन में बदल गया

झुर्रियों से मति ऐंठन लचर हुई
प्रत्येक ग़र संभावना मगर हुई

संचारण ने शिथिलता प्रेरित की
स्वतः मेरुदण्ड बहकी त्वरित की

लो प्रज्वलित दीपक सहम गया
वो फुदकता अस्तित्व जम गया

दमखम निशुल्क ही लुट गया
मेरा मानव , प्रारब्ध से घुट गया !

-


Show more
378 likes · 146 comments · 37 shares
Linea Creatarus 10 MAR AT 15:51

मेरी चाहत की पाकड़ पर
तुमने अपने दिल का चबूतरा बना तो दिया है ,

पर यहाँ पर अपने दोस्तों के साथ
ताश के पत्ते कभी मत खेलना !

-


Show more
564 likes · 175 comments · 35 shares
Linea Creatarus 5 MAR AT 19:22

उनकी मनमोहक महक भर गई मेरे निर्वात मस्तिष्क में
हृदय धड़का कि एक गहरी साँस लो, फिर हम अपना खेल शुरू करते हैं।

-


Show more
600 likes · 211 comments · 17 shares
Linea Creatarus 3 MAR AT 19:25

ओ परिवर्तन, गिरगिट से परे हट
वो देख इंसान खरबूजा खा रहा है !

-


Show more
683 likes · 177 comments · 38 shares
Linea Creatarus 1 MAR AT 19:47

ख्वाबों में इतना कैसे खो जाते हो ?
लगता है जमाने से ज्यादा असलियत है वहाँ !

-


Show more
757 likes · 201 comments · 75 shares
Linea Creatarus 27 FEB AT 19:51

Never loose respect in a relationship otherwise accusing will start and it atrophied the relationship ...

-


Show more
624 likes · 109 comments · 15 shares
Linea Creatarus 24 FEB AT 19:25

कफन चढ़ाना या ना चढ़ाना, जैसी तुम्हारी सहूलियत जमीं वालों
बस एक बोतल चढ़ा देना, जन्नत वालों को चखाने के लिए !

-


Show more
623 likes · 139 comments · 32 shares

Fetching Linea Creatarus Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App