Abhi Singh   (@PoorWriter🐿️)
4.4k Followers · 2.4k Following

read more
Joined 17 February 2019


read more
Joined 17 February 2019
8 SEP AT 20:13

(thought of butterfly)
बेशक तू मुरझा गया है,
अपना रंग बदल कर सूखा गया है,
लेकिन तेरी अहमियत आज भी उतनी है,
तू तो जैसे मेरे रग-रग में ही समा गया है।।
(Never forget them who once feed you)
😋😋😋😋

-


7 SEP AT 23:50

बहुत सारी है उलझनें,इन्हें सुलझाये कौन।
रूठी ही रहती है दुनियां,अब इन्हें मनाये कौन।
काफी है निभा लू अपने हिस्से की रस्मे।
काफ़िर है दुनियां की दुनियादारी,
अब इसको निभाये कौन।।
😏😏😏😏

-


23 AUG AT 2:29

जमीन से ढूढ़ता हूँ,
आसमां का किनारा।
कहीं तो बनूंगा मैं,
एक चमकता सितारा।
माना कि ऐ जिंदगी,
तेरे सितम बड़े है लोगो पर,
लेकिन तुझसे हार जाऊँ,
मेरे दिल को यही नही है गवाँरा।।
😏😏😏😏

-


20 AUG AT 23:01

जो तुम्हे सरकार बनातें है,
तुम उन्हें ही लाचार बना देते हो,
पहनकर तुम शान्ति का सफेद वस्त्र,
हमारी माँ-बेटियों के आबरू से खेलते हो ।
(SHAME ON YOU)
😢😢😢😢😢😢
Read In Caption
👇👇👇

-


15 AUG AT 0:55

सारे जहानं से न्यारा है तिरंगा अपना,
जन जन का प्यारा है तिरंगा अपना,
इसके गुणगान अब मैं क्या ही करू,
हर धर्म से आगे है तिरंगा अपना,
भारत की जान है तिरंगा अपना।।
Happy Independence Day
🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

-


14 AUG AT 13:32

(Dedicated to Pakistan)

देश के बटवारें का,
ज़ख्म अभी नया है,
धर्मों से बाटी गयी ये सरहदे,
खून से खिंची गई,
इन रेखाओं का रंग अभी नया है।
तुम मना रहे हो आज़ादी दिवसः,
अपनो के बिछड़ने का।
तुम्हे अपनो को अपनाने का,
ये तजुर्बा भी तो अभी नया है।।
【14th Aug, Pakistan Independence Day】
😔😔😔

-


13 AUG AT 15:26

इंसानियत को नीलाम होते देखा है,
हैवानियत को सलाम होते देखा है,
क्या खूब निभा रहे धर्म हम मानवता का,
पैसों के लिये लोगो का शैतान होते देखा है।।
😏😏😏😏

-


31 JUL AT 23:04

मेरे जिदंगी की वो घटना,
जो दे गई,
IAS बनने का हसीन सपना।।
🤦🤦🤦
Read In Caption 👇

-


29 JUL AT 7:31

तन्हा जिंदगी,
ये तन्हा सफर,
रह गयी है सिर्फ,
बोझ बनकर।।
😕😕😕

-


27 JUL AT 14:26

【lesson From Animals】
न मैं जानु अल्हा को,
न ही जानु ईशा को,
न ही बसते मुझमे राम है।
मैं तो प्रेमी हूँ सच का,
सच्चा इंसान ही मेरा भगवान है।।
🤗🤗🤗🤗

-


Fetching Abhi Singh Quotes