YourQuote Didi   (YQ Hindi)
543.0k Followers · 64 Following

read more
Joined 1 February 2017


read more
Joined 1 February 2017
YourQuote Didi 2 HOURS AGO

महकते रहो, चहकते रहो

-


सुप्रभात।
दुआ से बड़ी कोई इबादत नहीं।
#महकतेरहो #yqdidi

604 likes · 124 comments · 13 shares
YourQuote Didi 9 HOURS AGO

उसे समझने का कोई तो रास्ता निकले
मैं चाहता भी यही था वो बेवफ़ा निकले

किताब-ए-माज़ी के औराक़ उलट के देख ज़रा
न जाने कौन सा सफ़हा मुड़ा हुआ निकले

मैं तुझ से मिलता तो तफ़्सील में नहीं जाता
मिरी तरफ़ से तिरे दिल में जाने क्या निकले

जो देखने में बहुत ही क़रीब लगता है
उसी के बारे में सोचो तो फ़ासला निकले

तमाम शहर की आँखों में सुर्ख़ शो'ले हैं
'वसीम' घर से अब ऐसे में कोई क्या निकले

'वसीम बरेलवी'

-


Show more
1735 likes · 145 comments · 68 shares
YourQuote Didi 12 HOURS AGO

काग़ज़ का दर्द

-


काग़ज़ में क़ैद हैं हमारे दर्द के क़िस्से।
#काग़ज़ #collab #yqdidi

1533 likes · 490 comments · 33 shares
YourQuote Didi 16 HOURS AGO

छन्दविचार
आइए, छन्दविचार की तरफ़ लौटते हैं। आशा है पिछले कुछ दिनों में छन्द से सम्बंधित बुनियादी बातें आपने ज़रूर जान ली होंगी। पुनः देखने के लिए #छन्दविचार पर क्लिक करें।

अगले सप्ताह हम हिंदी और उर्दू में प्रचलित 3 मीटर (छन्द/बह्र) पर रचना का अभ्यास करेंगे। सीधे-सीधे इन छन्दों पर लिखने से पहले कुछ आवश्यक तैयारी कर लेते हैं। जिससे आगे चलकर लिखना आसान हो जाएगा।

जैसा कि आप गण और अरकान के बारे में पहले पढ़ चुके हैं वह घटक जिनसे मिलकर एक बह्र/छंद/मीटर का निर्माण होता है उसे रुक्न/गण कहते हैं। आइए, जिन गणों का उपयोग होना है उन के भार पर शब्द लिखते हैं।

कैप्शन देखें:-

-


Show more
1229 likes · 64 comments · 27 shares
YourQuote Didi 19 HOURS AGO

बात पते की

-


Show more
1586 likes · 345 comments · 22 shares
YourQuote Didi YESTERDAY AT 6:44

थोड़ी सी फ़ुर्सत निकाल

-


Show more
1740 likes · 359 comments · 42 shares
YourQuote Didi YESTERDAY AT 23:36

रात्रि कविता में आज पढ़ें
वरिष्ठ कवि
अयोध्या सिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
की अतिप्रसिद्ध कविता - एक बूँद

-


Show more
2012 likes · 158 comments · 57 shares
YourQuote Didi YESTERDAY AT 23:11

तन्हाई का गीत

-


1238 likes · 212 comments · 14 shares
YourQuote Didi YESTERDAY AT 19:52

चेहरे के पीछे चेहरा है

-


Show more
1675 likes · 546 comments · 31 shares
YourQuote Didi YESTERDAY AT 12:33

ज़िन्दगी तेरी क़ीमत

-


और कितनी क़ीमत चुकानी पड़ेगी हमें?
ज़िन्दगी!
#ज़िन्दगीकीक़ीमत #collab #yqdidi

1752 likes · 495 comments · 36 shares

Fetching YourQuote Didi Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App