YourQuote Didi   (YQ Hindi)
1.7M Followers · 258 Following

read more
Joined 1 February 2017


read more
Joined 1 February 2017
6 HOURS AGO

"मैं एक लोक गीत"

मैं एक लोक गीत
बेनाम हवा में खड़ा
हवा का हिस्सा
जिसे अच्छा लगूँ
वह अपनी याद बना ले
जिसे और अच्छा लगे
वह अपना बना ले
जिसके जी में आए
वह गा भी ले—
मैं एक लोक गीत
सिर्फ़ लोग गीत
जिसे किसी नाम की
कभी भी
ज़रूरत नहीं पड़ती

'इमरोज़'

-


9 HOURS AGO

उदासी कम नहीं होती

-


11 HOURS AGO

वक़्त को सहेजने की कोई सरल व कारगर प्रक्रिया है तो वो लेखन है। एक लेखक लफ़्ज़ों को नहीं लम्हों को लिखता है।

-


14 HOURS AGO

तुमसे अब क्या कहूँ

-


21 HOURS AGO

जागी आँखों के सपने

-


27 FEB AT 23:48

"इच्छा"

तुमसे मिल पाने की इच्छा
बंद पड़ी रेलगाड़ियों का स्टेशन है

मैं सारा वक़्त प्लेटफ़ॉर्म पर भटकता
बाहर निकलने के रास्ते खोजता हूँ

'सौरभ अनंत'

-


27 FEB AT 20:59

गले लगाकर रोया वो

-


27 FEB AT 17:34

शाम आई है

-


27 FEB AT 8:34

सारा समुंदर मेरा है

-


26 FEB AT 23:09

"इंतज़ार"

वे सारे मौसम बीत गए
जिसके इंतज़ार में हम अपने-अपने सीने पर
जूते उतार बैठे रहे।

प्रेम चुपके से आया एकदम आहिस्ता
और अपनी टूटी पुरानी चप्पल छोड़
हमारे एक-एक पैर के जूते पहन चलता बना।

'आयुष झा'

-


Fetching YourQuote Didi Quotes