Tanmay J. Mishra   (©तन्मय जे मिश्रा)
1.1k Followers · 267 Following

read more
Joined 19 July 2017


read more
Joined 19 July 2017
Tanmay J. Mishra 11 AUG AT 23:29

डूबता हूँ तो पार पाता हूँ,
कैसा दरिया है ये तेरी आँखें?

-


28 likes · 1 comments · 1 share
Tanmay J. Mishra 10 AUG AT 18:08

पुर-सुख़न है तुम्हारा पूरा बदन,
और उस पर भी शाइरी आँखें...

यूँ समझ ले हया का मरकज़ हैं,
उफ़! ये तेरी झुकी झुकी आँखें...

-


Show more
25 likes · 1 share
Tanmay J. Mishra 4 AUG AT 21:54

सुन के आए थे कई शख़्स वहाँ मेरी सदा,
गर न आया तो फ़क़त मेरा पुकारा हुआ शख़्स...

दुःख जताते हैं मेरे हाल पे दुनिया वाले,
मुझ को कहते हैं तेरे हिज्र का मारा हुआ शख़्स...

-


37 likes · 8 comments · 1 share
Tanmay J. Mishra 30 JUL AT 21:46

तुम ऐसे बे-दिल कि देखते भी नहीं हो हम को,
हम ऐसे पागल कि तुमको सर पर चढ़ा रखा है...

मैं सोचता हूँ वो शख़्स क्या ख़ुश-नसीब होगा,
जिसे ख़ुदा ने तुम्हारी ख़ातिर बना रखा है...

-


35 likes · 4 comments · 1 share
Tanmay J. Mishra 28 JUL AT 20:33

छलकती आँखों पे उस ने चश्मा लगा रखा है,
कि जैसे दरिया पे एक पहरा बिठा रखा है...

-


43 likes · 1 comments · 3 shares
Tanmay J. Mishra 25 JUL AT 17:52

इस ख़ातिर भी तुझ को मुड़ कर नईं देखा,
मुड़ जाते तो जाना भी मुश्किल होता...

तूने दूजा शख़्स चुना है,अच्छा है!
बेहतर होता गर तेरे क़ाबिल होता...

-


Show more
59 likes · 4 comments · 2 shares
Tanmay J. Mishra 7 JUL AT 20:03

मैंने पूछा तोहफ़े में क्या लोगी तुम?
उसने मेरा नाम पुकारा आहिस्ता...

-


72 likes · 7 comments · 2 shares
Tanmay J. Mishra 22 JUN AT 19:22

क्या ख़ाक तेरी याद को दिल से निकालता?
मुझ से तेरे ख़ुतूत भी फाड़े नहीं गए...

-


51 likes · 8 comments · 1 share
Tanmay J. Mishra 22 JUN AT 14:57

रोज़ पीते हैं तुम्हारे हिज्र का विष,
बस हमारा कंठ ही नीला नहीं है...

-


54 likes · 6 comments · 1 share
Tanmay J. Mishra 18 JUN AT 18:31

इक बार उस की ज़ुल्फ़ संवारी थी अपने हाथ,
अब तक हमारे हाथ को चूमा करे हैं लोग...

-


55 likes · 4 comments · 2 shares

Fetching Tanmay J. Mishra Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App