yqtv

QUOTES ON #2

#2 quotes

Trending | Latest
Aman 17 HOURS AGO

ds hoyi ki khtaah
jo tu hoya ee judaa
kehdi gllon dilo'n kdd ta
kyu bulona chhd ta
ds hoyi ki khtaah

-


1 likes
Aman YESTERDAY AT 21:21

saari raat spno me rehti ho
subah hote hi yun gayab..
ab se uthhenge hi nhi to jaoge kese

-


#2 likhunga tere liye..gaunga tere liye
maangunga tere liye..ee mere dil
29*7🔏

5 likes
Tanmay Sarkar YESTERDAY AT 20:50

All you must know is that they don't
realise what are you made of,
or how resounding a blow does
it take to knock you off!

-


#2

– Tanmay Sarkar ft. Rohit Rajak
#thearchangelsdiary #yqbaba

Read from #1

13 likes
Bharat Deshwal 10 DEC AT 9:34

New friends

Meanwhile new teacher is come.
Teacher - good morning students'
O so we have a new student in this class, please introduce your self.
New guy(dabbbi hovi avaj me) - good morning sir, myself devansh dutta.
Devansh - sir, I need notes.
Teacher - wait, aditi
Aditi- yes sir
Teacher- tumre notes pure hai na tum aaj ke lye devansh ko de do.
Aditi- ok sir.
D- thank u sir.
D(in his mind)- yaar kese jake baat kru es ldki se.
A(in his mind)- agr isko notes chye to ye maangta kyu nhi hai
D(nervous)- hy,aditi . Notes.....😅
A- han ye lo notes, smal. Ke rkna ene bhut mehnat se bnae hai , and Kal skul leke anaa..
D- okok😅.
At lst period.
Class test dates are announced.
D(to Ankush his bench partner)- yaar kese kru ga sab ...
Ankush- bawa aditi s help leleyo topper h vo class ki teri to baat bhi krva di aaj sir n.
D- bc. Pagal h tu us se notes mangne me fat gyi thi meri .
A- abe fattuu.
Ending here.....
Next part soon...


-


Part #2

6 likes
Hanumantha D 10 DEC AT 7:23

ಕಾದು ಕಾದು ದಣಿದಿದೆ
ಒಡಲು....‌.
ಬರುವುದೇ.? ತಣಿಸಲು ಪ್ರೇಮದ
ಕಡಲು...

-


#2

2 likes · 1 share
Avinash Singh 10 DEC AT 0:08

वह माँ ही थी जिसने नौ महीने मुझे अपने पेट में पाला था.
वह माँ ही थी जिसने मुझे अपना दूध पिलाया था.
वह माँ ही पहला शब्द था जो मैंने अपने मुँह से निकाला था.
वह माँ ही थी जिसने मुझे पहली बार चलना सिखाया था.
वह माँ ही थी जिसने मुझे अपने हाथों से खिलाया था .
वह माँ ही थी जिसने मुझे चोट लगने पे दवा लगाया था.
मुझे आज भी याद है वो दिन जब मुझे लगा था की
मैं बड़ा हो गया और खुद से फैसला किया था और गलत राह चुन लिया था
वो माँ ही थी जिसने मुझे सही गलत समझाया था
और वो मैं था ,जो उसी माँ को गुस्से में बोला था ,
वो मैं ही था जिसने माँ को रुलाया था
आज फिर वो माँ रोई थी बस फर्क इतना था की
पहले मुझे चोट लगने से रोती थी और आज मेरे चोट देने से रोई थी
अरे वो मैं ही बदनसीब था जो माँ के इस ममता को न समझ सका
और वो माँ ही थी जो मेरे लाख गलतियो को माफ़ कर के मुझे हमेशा आशीर्वाद ही दिया था.

-


8 likes
Diksha Joshi 9 DEC AT 19:41

Don't just love me
Go deep down my neck
For some words unsaid
Secrets that forbid me,
Free me from what is stuck.
Holding me ain't enough
Swirl your palms around
Just when off my heart
The pain will come,
You'll hear me making that sound.
Your kisses on my whole skin
Completed my empty space,
So for now on less of kisses
Suck the mess out of me
For a clean girl under the dress.
And if the intensity of my voice
Peirce your ears this night
Take that as a gratitude, as
You helped me with my tiredness
You did it so right.

-


Show more
8 likes · 1 comments
Siddhant Singh 9 DEC AT 11:56

उस रात की बात है...
पहली मुलाकात के बाद की पहली रात है.....
कुछ सुलझा स मैं ,कुछ उलझी सि वो...
ना मैं कुछ समझ पा रहा था,ना वो समझ पा रही थी
उस रात बस तकिया का सहारा लिए दोनो अपने ख्वाबो मैं मगन...
कुछ वो सोच रही थी ,कुछ मैं सोच रहा था
फासलों की दीवार थी...
वो खुद को रोक रही थी,मैं हर कदम बड़ा रहा था
बस आंखों मैं एक ही ख्वाब आ रहा था...
थाम लो मेरा हाथ ले चलो कहीं दूर इस दुनिया से ..
जब तक थामे हो मेरा हाथ रुक जाये ये समय की बात...
उसके छोटे से मंन मैं चल रही थी कशमस की बरसात...
मैं कुछ अपनापन स लिए मुस्कुरा रहा था..
मेरे जज्बात मेरे लबों पर, उसके जज्बात अंदर ही अंदर लड़ रहे थे....
आना चाह रहे थे वो जज्बात लेकिन कुछ तो था जो उसे रोक रहा था..
हम उसे सोच सोच कर बस मुस्कुरा रहे थे...
दोनो के लिए एहसास नये थे....
उसका कंधे पर सर रखना ओर थाम कर बैठना...
बस एक ना भूला जाने वाला एहसास...
मानो ऐसा लग रहा था जैसे छोड़ दिया हो सबकुछ ..
बस एहसास ओर अपनापन का अलग मिजाज़ नज़र आ रहा था.
वोह पल मैं बयान करने मैं असमर्थ ओर वो खुल कें उसे जीना चाह रही थी.
उसी एहसास को तकिया मे लपेट कर सो जाने का मंन हो रहा था.
मैं उसे ओर समझने की कोशीश ओर वो मुझे..
धीरे धीरे नींद का साया आने लगा मुस्कुराते मुस्कुराते आंख लग गयी ओर पता भी ना चला....
उसे तों ख्वाबो मे भी वही नज़र आ रही थी..
ओर उसके सपनो मे.....मैं?

-


#2 #second part

14 likes · 1 share
Harichandana venkateshwaralu 8 DEC AT 23:53

And that last day....
when a drop of tear got added to each day for the rest of her life......
When those butterflies that would once fly out from her eyes got caged in the ocean of her tears....
.....still in that moving bus....
Millions of prayers whispered in her heart craving for at least 2 minutes of ur presence....

Let everyone be lucky enough to have those 2 minutes.....

-


Dad #unlucky #2 minutes #my happiness breaker for life

4 likes · 1 share

Fetching #2 Quotes

Trending Videos
Fetching Feed..