SIMRAN RAJ   (SIMRAN RAJ)
1.3k Followers · 1 Following

डर को डराओ
हार को हराओ
मतलब को मिटाओ
खुद को अपनाओ
Joined 6 August 2018


डर को डराओ
हार को हराओ
मतलब को मिटाओ
खुद को अपनाओ
Joined 6 August 2018
SIMRAN RAJ 5 HOURS AGO

यूँ खुद को जानकर भी खुद से परे होते जा रहे हैं हम

दिन-ब-दिन आख़िर क्यूँ इतने बुरे होते जा रहे हैं हम

-


22 likes · 4 comments
SIMRAN RAJ 6 HOURS AGO

ख़ुदा की खोज में पत्थर को ही ख़ुदा समझते देखा है

इंसानों की कहाँ पूछ रिश्तें तो रूपयों से बनते देखा है

-


18 likes · 20 comments
SIMRAN RAJ 8 HOURS AGO

चार ज़िंदगियाँ कट रही हैं चार अलग-अलग शहरों में

सोचिये!तजुर्बों ने कितना मजबूर किया होगा चारों को

-


24 likes · 7 comments
SIMRAN RAJ 13 HOURS AGO

मेरे अपने हिस्से में भी अब
देखो! हिस्सा लगने लगा है

जो मुझे जानता तक नहीं है
वो भी मेरा किस्सा गढ़ने लगा है

-


Show more
33 likes · 7 comments · 1 share
SIMRAN RAJ 15 HOURS AGO

कमबख़्त इश्क़ ने लाइलाज कर दिया मुझको

वरना दवाएँ तो सबके मशवरे से ही ली थी

-


25 likes · 5 comments
SIMRAN RAJ YESTERDAY AT 2:46

रंग-बिरंगें इतने मंजर देखे नज़रों ने मेरी

बस अब और देखने का जी नहीं करता

-


29 likes · 4 comments
SIMRAN RAJ YESTERDAY AT 22:16

हक़ीक़त ज़िंदगी का यही है

कि ज़िंदगी हक़ीक़त नहीं है

-


25 likes · 3 comments
SIMRAN RAJ 16 AUG AT 22:44

"मरीज़ मोहब्बत का है" यह सुनते ही

हकीम ने झट से लाइलाज कह दिया

-


31 likes · 8 comments
SIMRAN RAJ 16 AUG AT 9:43

वो सारे ख़्वाब जो मँडराते हैं रात भर
सवेरा होते ही नज़रों से छूट जाते हैं

वो जो बड़े मग़रूर हैं रिश्तों की भीड़ में
उन्हें पता नहीं क्या,रिश्तें भी टूट जाते हैं

-


37 likes · 7 comments · 1 share
SIMRAN RAJ 15 AUG AT 8:02

भाईयों की कलाई पर रक्षासूत्र यूँ आबाद रहे

यह अखंड भारत हमारा हमेशा ज़िंदाबाद रहे

-


36 likes · 6 comments · 2 shares

Fetching SIMRAN RAJ Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App