SIMRAN RAJ   (SIMRAN RAJ)
1.1k Followers · 1 Following

डर को डराओ
हार को हराओ
मतलब को मिटाओ
खुद को अपनाओ
Joined 6 August 2018


डर को डराओ
हार को हराओ
मतलब को मिटाओ
खुद को अपनाओ
Joined 6 August 2018
SIMRAN RAJ 3 HOURS AGO

अब उम्र से आगे तो निकलनी ही थी मुझे

वक़्त ने बे हिसाब चुनौति जो दे रखा था

-


19 likes · 2 comments
SIMRAN RAJ 19 APR AT 0:09

बिना चिंगारी के ही यह दिल जल रहा है

हाँ...आज फिर आपकी कमी खल रहा है

-


42 likes · 10 comments
SIMRAN RAJ 18 APR AT 23:26

हाँ...तारें तो बेचारे रोज जैसे ही टिमटिमा रहे हैं
मगर यूँ आसमाँ में अजीब-सा सन्नाटा छाया है

ना...गुस्ताख़ी तो उन बादलों की भी नहीं है आज
शायद चाँदनी को ही फिर से चाँद याद आया है

-


32 likes · 4 comments · 1 share
SIMRAN RAJ 17 APR AT 23:41

भला इलाज भी कैसे करता हकीम

मरीज़ बेचारा मोहब्बत का जो था

-


59 likes · 7 comments
SIMRAN RAJ 17 APR AT 0:18

ऐ मेरे मौला...बस इतनी-सी तू मुझ पर रहम कर दे

जितनी बची है खुशियाँ मेरी उसे भी थोड़ा कम कर दे

-


58 likes · 18 comments · 1 share
SIMRAN RAJ 15 APR AT 19:35

If you have aptness to overcome your SENTIMENTS
Yeh! Congratulation
The great Art of Life you have

-


61 likes · 6 comments
SIMRAN RAJ 15 APR AT 11:22

खुशियाँ ना सही तो फ़क़त अपने गम ही मुझे बाँट दीजिए

ग़लतफ़हमी से बेहतर है साहब! कि आप मुझे डाँट लीजिए

-


69 likes · 16 comments
SIMRAN RAJ 13 APR AT 0:07

ऐ-खुदा! बहुत रू-ब-रू हो गई मैं ज़िंदगी से
अब तो मुझे केवल क़ब्र से बात करनी है

हाँ! बहुत सिमट गई मैं फ़क़त इन उजालों में
अब तो मुझे महज़ अपने लिए रात बननी है

सच में! बहुत गले मिल लिया मैंने औरों से
अब तो मुझे बस खुद से मुलाक़ात करनी है

शायद! बहुत खुशियाँ मिल गई मुझे जमाने से
अब तो मुझे सबके लिए केवल घात बननी है

हाँ! बहुत दख़लंदाज़ी कर ली मैंने उनके आशियां में
अब तो मुझे महज़ मेरी सीमा ज्ञात करनी है

बस! बहुत जीत गई मैं उनसे उनकी चुनौति
अब तो मुझे खुद से ही खुद की मात बननी है

-


76 likes · 14 comments · 1 share
SIMRAN RAJ 12 APR AT 18:11

थोड़ा तजुर्बा क्या आया ज़िंदगी का जब से

दम तोड़ दी हैं कमबख़्त उम्मीदें भी अब तो

-


68 likes · 21 comments · 2 shares
SIMRAN RAJ 12 APR AT 15:04

सुस्त पड़ गए हैं यक़ीनन लफ़्ज़ हमारे

शोर तो कमबख़्त दिल ने मचा रखा है

-


74 likes · 19 comments · 3 shares

Fetching SIMRAN RAJ Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App