Saket Garg   (Saket Garg)
6.7k Followers · 430 Following

Blogger, Journalist, Writer, Social Activist
Joined 13 September 2016


Blogger, Journalist, Writer, Social Activist
Joined 13 September 2016
Saket Garg 16 MAY AT 0:36

'आईना' आपको जन्मदिन मुबारक,
ख़ुशनुमा सहर, हसीन शब मुबारक;
हर पल खुशियों की बुनियाद रहे,
उत्साह-उत्सव-उमंग-उल्लास रहे;
हँसती रहो, हँसाती रहो,
सुनहरा अक्स दिखाती रहो;
किसी की Buddy बनकर,
किसी की बहन बनकर,
यूँ ही ख़ुशियों की महफ़िल जमाती रहो;
किसी को परेशान, नहीं देख पाती हो,
कैसे भी हो, उसे हँसाती हो;
कभी अपने दर्द छुपाती हो,
कभी खुली क़िताब बन जाती हो;
कुछ यूँ रिश्ते-नाते-फर्ज़ निभाती हो,
अपने जीवन से हमें जीना सिखाती हो;
चंद लफ्ज़ों में सबकुछ लिख जाती हो,
लेखनी से अपनी, सबको मुरीद बनाती हो;
ग़ज़ल-त्रिवेणी-शेर-रुबाई, नज़्म भी सुनाती हो,
हिंदी हो या अंग्रेज़ी, जीवन का मर्म दिखाती हो;
इतनी सी है दुआ, आपका हर दिन आबाद रहे,
महफ़िल रहे, नग़मे रहें, प्यार बे-शुमार रहे;
दुआ-ए-'सागा' कुछ यूँ बनके आबशार रहे,
ज़िंदाबाद रहो आप, ज़िंदगी यूँ ही गुलज़ार रहे।

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
86 likes · 5 comments · 1 share
Saket Garg 23 APR AT 11:50

मुद्दतों बाद बारिश की वो हसीन 'बदली' फ़िर मुझ पर छाई है
ज़रा ग़ौर से देखो इस सूखे से 'शजर' में फ़िर नई जान आई है

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
699 likes · 14 comments · 12 shares
Saket Garg 22 APR AT 0:27

हर कभी बैठे-बैठे, बस यही मुग़ालता होता रहता है मुझे
कोई है जो मसरूफ़ रहकर भी, याद करता रहता है मुझे

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


#मुग़ालता = संदेह, भ्रम
#मसरूफ़ = busy, occupied

#याद #YQHindi #YQDidi #SaGa

115 likes · 13 comments · 2 shares
Saket Garg 19 APR AT 15:32

पी जी मोहे दरस दिखा गये फ़िर आज
मोरे सूते भाग जगा गये फ़िर आज

बावरी, बावरी, बावरी बन फिरूँ मैं
पी जी मोहे बावरी बना गये फ़िर आज

था अंधकार बिन दरस पिया जी के
पी जी प्रेम अलख जगा गये फ़िर आज

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
89 likes · 6 comments · 2 shares
Saket Garg 16 APR AT 12:10

हैं मेरे क्या अफ़्कार, फ़क़त मैं जानता हूँ
है मुझे तुमसे कितना प्यार, फ़क़त मैं जानता हूँ

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


#अफ़्कार = worries, tension, fears
#फ़क़त = only, केवल

105 likes · 9 comments · 4 shares
Saket Garg 14 APR AT 10:57

नहीं बची पहली-सी जगह अब मेरी, ज़िंदगानी और दिल में 'उनके'
प्यार की ज़मीन जो सरकने लगी, दिल भी जगह से सरकने लगा है

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
100 likes · 1 comments · 2 shares
Saket Garg 13 APR AT 14:13

ना ख़ैर, ना ख़बर मिली है यार की
दिल बैठा है, इन्तेहा है इन्तेज़ार की

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


तुम्हारी जो ख़ैर-ख़बर नहीं पाता है,
मेरा यह दिल आज भी घबराता है।

#SaGa

105 likes · 9 comments · 4 shares
Saket Garg 5 APR AT 16:43


ओ हमसफ़र मेरे
साथ चलना इस सफ़र में मेरे
चुना है मैंने पथरीला यह रास्ता
एक भरोसे सिर्फ़ और सिर्फ़ तेरे

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
74 likes · 10 comments · 3 shares
Saket Garg 4 APR AT 12:25

कैसे ना टूटे हौंसला, जंग-ए-ज़िंदगी कोई ऐसे ही हार नहीं जाता
रोज़-रोज़ चारों ओर की परेशानियों से, अकेले नहीं लड़ा जाता

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


89 likes · 10 comments · 3 shares
Saket Garg 2 APR AT 10:57

किसी भूली-बिसरी याद सा, होकर रह गया है किरदार मेरा
याद किया नहीं जाता, बस कभी-कभी याद आ जाता हूँ मैं

- साकेत गर्ग 'सागा'

-


Show more
108 likes · 11 comments · 2 shares

Fetching Saket Garg Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App