Pramar ❤   (अmar ♥️)
14.1k Followers · 2 Following

read more
Joined 25 December 2018


read more
Joined 25 December 2018
17 OCT AT 20:17

उसने कहा
बरसात बहोत पसंद है मुझे
मैंने कहा
हाँ देखा है तरसती आँखों में

उसने कहा
शिकायतें कई हैं तुमसे
मैंने कहा
सुना है तुम्हारी अनकही भोली बातों में

उसने कहा
तुम्हारी यादें रुलाती हैं मुझे
मैंने कहा
जब मिलूँ भर लेना कस कर बाहों में

उसने कहा
मुझे प्यार बहोत है तुमसे
मैंने कहा
जान निसार है तुम्हारी प्यारी बातों में

-


13 OCT AT 4:56

हाँ माँ के हाथ से खाए हुए इक ज़माना हो गया
माँ के हाथ से खाना खाए हुए अब इक ज़माना हो गया

हाँ अब उन यादों को बीते कई साल पुराना हो गया
माँ के हाथ की रोटी खाए अब इक ज़माना हो गया

माँ के बनाई खीर की खुशबू से तब यूँही पेट भर जाती थी
अब होटल का खा खा कर पेट भरे हुए इक ज़माना हो गया

भिंडी की सब्जी संग माँ की चूड़ियों की खनक
प्यार से माँ का खिलाना भी अब इक जमाना हो गया

हाँ तब दो रोटी खा कर भी जम कर नींद आती थी
अब थाली भर खा कर भी सोए इक ज़माना हो गया

हाँ माँ के हाथ से खाए हुए इक ज़माना हो गया
माँ के हाथ से खाना खाए हुए अब इक ज़माना हो गया

-


29 SEP AT 3:26

सोच में पड़ा था
की लिखूँ क्या मैं
मैंने कलम उठा कर
इक तेरा नाम लिख दिया

जब शब्दों की माला में
शब्द कम पड़ गए मेरे
मैंने मुस्कुराता सा चेहरा देखा
और बस इक तेरा नाम लिख दिया

भीगे बादलों में मैंने
प्यारी तेरी सूरत जब देखी
मैंने बारिश में भिगोकर खुशियाँ
उंगलियां फेर तेरा नाम लिख दिया

खोया रहा भोली आँखों में तेरी
और नींद भी मेरी हवा हुई जब
तब लिखते लिखते मैंने
हाँ बस इक तेरा नाम लिख दिया

-


15 SEP AT 6:32

Hope of no Terrorism
and no more WAR
We live happily and
spread the love that will spark
Humans became secularized
and will never fall apart
I pray to God 🙏
A little wish of my HEART ♥️

-


13 SEP AT 23:31

A little wish of my HEART ♥️

-


8 SEP AT 3:00

क्या ख़बर है
ना खबर है अब खुद की,
जो मिला थोड़ा सुकून है।

बेताब ज़िन्दगी है
बड़ी मश्गुल ये सफ़र सुहानी,
हाँ मिला अब थोड़ा सुकून है।

-


17 MAY AT 3:07

जीवन सफर में
सही मार्ग पर हम स्वतः ही खड़े हैं

फिर भी मुसीबत में
हम गलत राह का चुनाव कर लेते हैं

तू बता ऐ ज़िन्दगी
तुझे जीना यहाँ क्यूँ इतनी दर्द भरी है

मानो एक पल में
मर जाना ही यहाँ बस सबसे सरल है

-


16 MAY AT 21:14

वक़्त हमारा था नहीं हम फिर भी मुस्कुरा गए
वक़्त ने साथ दिया नही हम अब भी मुस्कुरा गए

-


9 MAY AT 11:23

तुम दुलारे
हर नयन में बसे
भोले हृदय हो तुम
मेरे हर धड़कन में तुम

परिभाषा हो
तुम सुंदरता की
मेरी मुस्कुराती माँ हो तुम
प्यारी माँ की आँखों में तुम

स्नेह तुम्हारी
हर बात में है
पिता का डांट फटकार हो तुम
पुचकार प्यार दुलार में तुम

कोमल हृदय
दया की छवि तुम्हारी
सागर सा गहरा प्रेम हो तुम
ममता की आँचल मेरी माँ हो तुम

-


9 MAY AT 10:08

सुनो!
चलो एक काम करो अब
आईना उठाओ और अपनी भद्दी सी शक्ल देखो
-------------------------------------------------
अरे बाबा सुनो तो!
चलो अब फ़िर से एक काम करो
आईने में अपनी शक्ल की जगह 'माँ' को निहारो

देखो अब मुस्कुरा न देना :)
Happy Mother's Day 🙏

-


Fetching Pramar ❤ Quotes