Nikhil bakshi   (Nikhil bakshi)
316 Followers · 181 Following

read more
Joined 29 October 2017


read more
Joined 29 October 2017
3 SEP 2020 AT 10:08

इक सुकून ढूँढता फिरता हूँ उन बेनाम रिश्तों में मैं,
पर ये बंजारापन मुझे किसी का होने नहीं देती,

कहते हैं बड़ी सुकून की नींद आती है नोटों के बिस्तर पर,
पर अब इन सिक्कों की खनखनाहट सोने नहीं देती..

-


23 AUG 2020 AT 22:18

वो सारे बेनाम रिश्ते तोड आया हूँ मैं,
अपनी जिंदगी को कहीं पीछे छोड़ आया हूँ मैं,

और सुना था ख्वाहिशें पूरी नहीं होती जिन रस्तों पर,
लगता है अपने सारे सपने उन रस्तों की तरफ मोड़ आया हूँ मैं..

-


18 AUG 2020 AT 19:51

It's all fun and laughs,

Until you come on the receiving end..

-


7 AUG 2020 AT 19:43

शिकायत, हिज्र, नफरत, नाराज़गी
का आना - जाना लगा ही रहता है,

दाद, हिफाजत, फिक्र, मोहब्बत
तो अनजान से हो गए हो जैसे..

-


26 JUL 2020 AT 9:37

Superheroes, Science and Space,

The three S of my life.

And somewhere between them, there lies my fourth paradoxical S i.e. Sushant.. ❤

-


8 JUL 2020 AT 10:11

Read Full Caption

-


4 JUL 2020 AT 20:55

Ye jism pe jakhmon ke daag nhi,
Ye to rooh pe khinchi sunehri rekha hai.

Sabko naseeb nhi hote falsafe zindagi ke,
Ye to bas mehnat ki raah ke raahgiron ne dekha hai..

-


14 JUN 2020 AT 22:19

"Bohot time hai na hamare pass? "

"Aur kya.."

-


26 MAY 2020 AT 4:22

मैं आमीन कहूँ हर दुआ पर तेरी,
कि तेरी दुआएँ मुक्कमल सीधी हो जाए..

खुदा करे मैं बन जाऊँ चांद ईद का,
और तू मेरी ईदी हो जाए.. ❤

-


26 MAY 2020 AT 4:07

तेरा साथ है तो बेजान श्याह रात भी रंगीं शाम सा है,

मुझे लगता अब हर सुकून ए हसीं तेरे नाम सा है..

-


Fetching Nikhil bakshi Quotes