Md writer  
9.6k Followers · 25 Following

read more
Joined 3 September 2018


read more
Joined 3 September 2018
Md writer 14 HOURS AGO

परेशां हो जिंदगी में रोज़ के इम्तेहानो से l
अब वो सालाना इम्तेहान याद आयेंगे ll

बना लिया था जिन्हें तुमने दुश्मन अपना l
वो प्यारे उस्ताद याद आयेंगे ll

अब वक़्त बर्बाद करने को भी वक़्त नहीं तुम्हारे पास l
बड़ी फुर्सत से BUNK किये वो CLASS याद आयेंगे ll

-


Show more
658 likes · 105 comments · 5 shares
Md writer 4 JUL AT 12:38

लेना चाहता हूँ जगह उनके हमाइल की l
इक धागे की ख़ुशनसीबी हमसे देखी नहीँ जाती ll

لینا چاہتا ہوں جگہ ان کے حمائل کی-
اک دھاگے کی خوش نصیبی ہم سے دیکھی نہیں جاتی-

-


हमाइल= तावीज़ Talisman

#mdwriter #mdwriterurdu

1130 likes · 163 comments · 6 shares
Md writer 3 JUL AT 11:17

हकीम साहब ने कहा है मर्ज़ फ़ैल चुका है l
लाज़िम है तुझे सुबह-शाम चाय मिले ll

حکیم صاحب نے کہا ہے مرض پھیل چکا ہے-
لازم ہے تجھے صبح شام چائے ملے-

-


1159 likes · 114 comments · 2 shares
Md writer 2 JUL AT 11:08

ये मेरा किरदार नहीं अदाकारी है l
अदाकारी छोड़ा और किरदार ख़त्म ll

یہ میرا کردار نہیں اداکاری ہے-
جس دن اداکاری چھوڑا کردار ختم-

-


1317 likes · 107 comments · 5 shares
Md writer 1 JUL AT 12:39

कौन घर में है कौन बाहर, ये कौन है आया हुआ ?
मुझे कोई खबर नहीं मैं इस हद तक तुझमे ज़ाया हुआ ll

کون گھر میں ہے کون باہر یہ کون ہے آیا ہوا-
مجھے کوئی خبر نہیں میں اس حد تک تم میں ضائع ہوا

-


ज़ाया(ضائع) = बर्बाद waste

#mdwriter #mdwriterurdu

1400 likes · 143 comments · 5 shares
Md writer 29 JUN AT 15:30

है फ़िक्र, है इश्क़, है मोहब्बत भी उसे मुझसे l
है जताना, है छिपाना, है मनाना... है रूठ जाने का ड़र भी उसे मुझसे ll

ہیں فکر ہیے عشق ہے محبت بھی اسے مجھ سے-
ہے جتانا ہے چھپانا ہے منانا روٹھ جانے کا ڈر بھی ہے اسے مجھ سے-

-


1623 likes · 168 comments · 6 shares
Md writer 27 JUN AT 13:56

दिखावटी शहंशाह है, एर्तुग्रुल गाज़ी या उस्मान नहीं है l
इक दौर हमारा भी था, हमें उस पर गुमान नहीं है ll

काबिल-ए-तारीफ है जुर्म तेरा, बादशाह से रोटी मांग ली l
चाह कर भी नहीं बचा सकता, मेरे हाथ में क़मान नहीं है ll

दफ़अतन शौकिया शमशीर है मेरे पास में l
बताओ किसके सीने में डालूँ, यहाँ कहीं मयान नहीं है ll

मौत सारे क़र्ज़ उतार देगी तू चख़ के तो देख l
क़ब्र में भी भरना पड़े ये वो लगान नहीं है ll

अजीज़ हो हुकूमत के तो इलाज़ होगा, पहली सफ़ में आओ l
सुनो, हाँ तुम ही.. तुम बाहर रहो तुम्हारे पास कागज़ी फरमान नहीं है ll

सिर्फ थोड़ी-सी जगह दे दो मुझे भी जाना है घर अपने l
सच कह रहा हूँ, मैं तन्हा हूँ, मेरे साथ कोई सामान नहीं है ll

-


Show more
1499 likes · 177 comments · 11 shares
Md writer 26 JUN AT 13:19

जी, जनाब, अदबो-अदाब से ताल्लुक नहीं है उसका l
लेकिन भाई तेरी कसम गालियां बड़े सलीके से देती है ll

جی جناب ادب و آداب سے تعلق نہیں ہے اس کا-
لیکن بھائی تیری قسم گالیاں بڑے سلیقے سے دیتی ہے-

-


1861 likes · 174 comments · 16 shares
Md writer 25 JUN AT 8:24

उसने पूछा है मैं तुम्हारे लिये क्या हूँ,, जता दूँ क्या ?
माथा चूम कर कम लफ्जो में बता दूँ क्या ll

اس نے پوچھا ہے میں تمہارے لیے کیا ہو،، جتا دوں کیا-
ماتھا چوم کر کم لفظوں میں بتا دوں کیا-

-


May be it's world best feeling for a Girl. Is it ?



#mdwriter #mdwriterurdu

1837 likes · 193 comments · 12 shares
Md writer 24 JUN AT 11:04

ख़ुद-मुख़्तार(خود مختار)= आत्मनिर्भर self-sufficient

-


Show more
980 likes · 60 comments · 6 shares

Fetching Md writer Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App