Mahesh Singh Rajpoot   (Chandan...)
3.7k Followers · 8.4k Following

read more
Joined 8 June 2020


read more
Joined 8 June 2020

किवाड़ खुलने में कुछ देर तो लगेगी ही जनाब ।
क्योंकि उसे घर ही नहीं ,बाल भी संवारने हैं।।

-



शांत बैठा हूं सिर्फ तेरी एक मुस्कान से।
जिस दिन दिमाग घूमा उठा ले जाऊंगा घर से।।

-



ख्वाहिश थी उसे अपनी बाहों में भर लेने की ।
मगर देखा जो उसे साड़ी में तो बस देखता ही रह गया।।

-


YESTERDAY AT 22:10

तुम्हारी ज़िद्द ,तुम्हारे उसूल ,तुम्हारे नियम।
न जाने संविधान की कौन सी धारा हो तुम।।

-


YESTERDAY AT 16:52

इंतजार ए यार का लुत्फ़ कमाल का हैं।
आँखे किताब पर है,और मन यार पर।।

-


YESTERDAY AT 6:49

Aa jaate aapse milne ham bhi aapke ghar....
Par dekho sarkaar ne lockdown laga diya....

-


14 APR AT 7:39

Kho gaya rashta naa jaane kab kaha....
Ham wahi rah gaye tum chali gai kaha..

-


13 APR AT 21:25

लॉकडाउन,कर्फ़्यू,और धारा 144 कहाँ जानती हैं।
तुम्हारी यादें कोई भी सरकारी आदेश कहाँ मानती हैं।।

-


13 APR AT 19:43

मैं तुम्हे एक नज़र देखना करीब चाहता हूँ से।
इससे पहले की शहर में फिर लॉकडाउन लग जाए।।

-


13 APR AT 17:56

इश्क़ किया है तो तबाही से मत डर...
अब तो तबाह हो चुका है ,जम के इश्क़ कर...

-


Fetching Mahesh Singh Rajpoot Quotes