M K Yadav   (M K Yadav)
3.7k Followers · 24.5k Following

read more
Joined 27 April 2018


read more
Joined 27 April 2018
M K Yadav 11 APR AT 4:44

नवरात्र स्पेशल

हम बालक नादान
करती माता जग कल्याण

है तेरा रूप जो हमें संभाले
पाल-पोष संकट को टाले
तुमसे जो टकरा सके
है कौन ज़िगर बलवान

हम बालक नादान
करती माता जग कल्याण

माँ दुख ने बहुत सताया है
यहाँ अँधे लालच की माया है
गिर-गिर के समझ ये आया
ना माँ से बड़ा धन-ज्ञान

हम बालक नादान
करती माता जग कल्याण

जो हाथ जोड़ चरणों को ताज़े
मन में ज़िसके गुनगुना विराजें
माँ रखती भगति का मान
ना हो मानव जीवन वीरान

हम बालक नादान
करती माता जग कल्याण।

-


Show more
110 likes · 12 comments · 2 shares
M K Yadav 5 APR AT 14:28

(आज़ाद अल्फ़ाज़)

रहे आज़ाद हिंद का उच्चा मान
हुई तिरंगे पे लाखों ज़ान क़ुर्बान

था मस्तिष्क पर कलंक ग़ुलामी का
ज़िस्म-ए-ख़ून से धो गए वीर बलवान

रहे आज़ाद हिंद का उच्चा मान
हुई तिरंगे पे लाखों ज़ान क़ुर्बान

नापाक है दुश्मन के वो संदिग्ध इरादे
यहाँ सीमा का प्रहरी है सशक्त ज़वान

सम्मान है अल्फ़ाज़-ए-एक ज़ुबान
हुई तिरंगे पे लाखों ज़ान क़ुर्बान।।

-


109 likes · 18 comments · 1 share
M K Yadav 4 APR AT 18:01


भजन लिरिक्स

81 likes · 2 comments · 6 shares · 94 Views
M K Yadav 4 APR AT 11:54

(मुसाफ़िर)

वक़्त की हर जंजीर पर
लिखी ख़्वाबों की तस्वीर है
मनवा-पागल कब तक बचाएँ
जब नियति जीवन का नीर है।

जहाँ कर्म रचे मेहनत की रेखा
वहाँ व्यर्थ बैठना बेकार है
परिश्रम हाथ का अपना धर्म है
मुस्किल मात्र सोच नर्म है।

चला मुसाफ़िर रस्ते पर जो
आखिर कहीं तो जाएगा
आँख मूँदकर सोने वाला
बस सोता ही रह जाएगा।

जीवन खुद मेहमान जगत का
मौत से किसको डराएगा
चट्टानों से टकराकर बादल
मेघ इंद्र कहलायेगा।।

-


113 likes · 14 comments · 3 shares
M K Yadav 31 MAR AT 14:41

(काल-चक्र)
🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼

प्रतिस्पर्धा की दुनियाँ में
चमका मेहनत का नाम
दिलों-से मिली दुआ जिन्हें
है उनके संग सम्मान।

चमकती आँखों में
झाँक के देखो
नम पलकों की छाँव कही
सफलता चाहें जितनी मिले
ख़ुशियाँ है एक ताज़ सही।

जिस पल में सबका साथ है
वो यादें अमूल्य सौगात है
अपनों में ये जीवन बीते
लम्हा सपनों का मोहताज़ है।

रंग-भेद सब अपने जगत में
न-कोई किसी-से पराया है
एक मानव ने रब से मिलकर
पूरा ब्रह्माण्ड रचाया हैं।

ज़रा गोर से फ़िर से देखो
काल ने संस्करण दोहराया है
आखिरी में मै कहूँ गर्व से
कर्मों ने संसार चलाया हैं।।

-


Show more
125 likes · 20 comments
M K Yadav 26 MAR AT 16:47


103 likes · 22 comments · 1 share · 124 Views
M K Yadav 24 MAR AT 19:07

प्यार है ख़ुशियाँ
प्यार है जिंदगी
ये जीवन प्यार का आदी
बदलेगा रंग हर वक़्त जमाना
बनेंगे लोग हिमाती।।
........................

-


Show more
158 likes · 16 comments · 2 shares
M K Yadav 24 MAR AT 12:33

चलती हवा और बहती धारा
सूखे में कहीं हरियाली का नज़ारा

बदली ऋतु लगे मौसम प्यारा
जैसे बेरुख़ी में जीने का सहारा

वो कर्मवान खुशबू पहचाने
मेहनत का पसीना सबसे न्यारा

हुई रात तो जगमग करता
दूर आसमान का रोशन तारा

जीवन जिंदगी का एक किनारा
बना समझदार जब सोच विचारा

चलती हवा और बहती धारा
सूखे में कहीं हरियाली का नज़ारा।

-


167 likes · 18 comments · 2 shares
M K Yadav 19 MAR AT 11:43

(रंगत)
हुस्न का हर कोई दीवाना
मोहब्ब कहाँ से लाएगा
जिस्म का बाज़ार गर्म है
रंगत कब तक बचाएगा।

वो लड़का हो या चाहे लड़की
खिले फ़ूल पर साँसे अटकी
ये रिश्ता कितना चल पाएगा
कल कोई और मिल जाएगा।

हुस्न का हर कोई दीवाना
मोहब्ब कहाँ से लाएगा
जिस्म का बाज़ार गर्म है
रंगत कब तक बचाएगा।

इंटरनेट एक बाज़ार है यारों
झूठे दिल का कारोबार है प्यारो
ये पैकेट जितना चम चमायेगा
माल उतना ही रद्दी मिल जायेगा।

हुस्न का हर कोई दीवाना
मोहब्ब कहाँ से लाएगा
जिस्म का बाज़ार गर्म है
रंगत कब तक बचाएगा।

-


Show more
171 likes · 31 comments · 2 shares
M K Yadav 14 MAR AT 5:16

(मुसाफ़िर)

जहाँ कर्म रचे मेहनत की रेखा
वहाँ व्यर्थ बैठना बेकार है
.......................................

-


Show more
208 likes · 41 comments · 1 share

Fetching M K Yadav Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App