कुसुम गोस्वामी 'किम'  
344 Followers · 21 Following

read more
Joined 6 May 2019


read more
Joined 6 May 2019

बात इतनी सी है समझने की...
कि समझाने से कोई समझता नहीं है।

-



कोई भी रास्ता चुनने के पहले विकल्पों पर ध्यान केंद्रित करें। इससे आप भटकेंगे नहीं और उचित निर्णय ले पाएँगे!

-



शब्दों के अभाव में नहीं, चिंतन के आधिपत्य में मनुष्य मौन धारण करता है

-



अगर हम चाहते है हमारी ज़िंदगी फूलों सी महकती रहे तो दूसरों को काँटे न बाँटें। क्योंकि जो हम देते हैं वही घूमकर वापस आता है।

-



प्रेम जो रिक्त स्थान छोड़ता है,
उसे दुनिया की कोई अन्य वस्तु नहीं भर पाती।

-



बहुत लोग आते हैं ज़िंदगी में कहानियां बनकर,
जो ख़ास होते हैं वे उपन्यास बन जाते हैं।

-



बड़ी समस्याएं, छोटी समस्याओं को निगल जाती हैं।

-



आप सबसे झूठ बोल सकते हैं खुद से नहीं इसलिए खुद की नज़रों में अपनी इज़्ज़त सदा बनी रहने दें!

-



सीधे नहीं! समझदार माता-पिता बनें!
ज़रुरतानुसार मीठे व तीखे का उपयोग अवश्य करें!

-



ज़रूरत और लालच के बीच बारीक़ फ़र्क है इसलिए
लोग अक्सर लालच को ज़रूरत का जामा पहना देते है

-


Fetching कुसुम गोस्वामी 'किम' Quotes