Kalpana Pandey   (कल्पना पांडेय)
6.3k Followers · 223 Following

Joined 11 November 2016


Joined 11 November 2016
Kalpana Pandey 2 AUG AT 20:05

इश्क़ किया ही ऐसे जाना चाहिए।
हक़ से...
जैसा मैं सोच रही तुम्हारे बारे में हूबहू वैसे ही तुम भी सोच रहे हो मुझे अभी इस वक़्त ।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 13:04


बिगड़ जाना दरकार है....

बस इसलिए दोस्ती तेरा दर खटखटाया है।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 12:59

आदत और इबादत मेरी एक ही है
पहले में तू है
दूजे में मैं नहीं।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 12:54

जुस्तजू तेरी .....मेरी कायनात है
मरने तलक रहेगी।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 10:50

मैं अपने पंखों की नुमाइश क्या करूँ?
तुम दिख जाओगे....

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 10:35

रखे रखे गुलाब भी चाशनी से गुलकंद हो जाते हैं....

मैं प्रेम हो गयी तो क्या?
दोष चाशनी का है
दोस्ती का नहीं।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 10:27

रख लो....दोस्ती है आज

रखा हुआ गुलकंद एक दिन प्रेम हो जाये क्या पता ....
जादू तो बस हो जाते है।

-


Kalpana Pandey 2 AUG AT 10:09

वो पल अधूरा नहीं रखता....

उसका साथ या तो होता है
या नहीं ही होता।

-


Kalpana Pandey 1 AUG AT 15:48

लोग कहते हैं एक टुकड़ा धूप का ....
मैं कहती हूँ एक टुकड़ा चाँद का भी...
अंदर अंदर नम सा है।

-


Kalpana Pandey 1 AUG AT 9:24

इश्क़ तो नहीं आता...
कहना आता है....
कह लेते हैं..
तुमसे

-


Fetching Kalpana Pandey Quotes